Jupiter Transit मकर—वृष का खुलेगा भाग्य, कर्क—कन्या को मिलेगा पार्टनर का प्यार, आपके लिए ये सौगात लाया गुरू—शनि योग

देवताओं के गुरु यानि बृहस्‍पति देव ने 20 नवंबर को शनि की राशि मकर में प्रवेश कर लिया है। शनि पहले से ही मकर में ही स्थित हैं। न्याय के देवता शनि और भाग्य के देवता बृहस्‍पति का यह मिलन सभी राशियों के लिए बहुत ही महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है। ज्योतिषाचार्य पंडित सोमेश परसाई बताते हैं कि करियर, दांपत्य जीवन और धन समृद्धि के साथ ही आध्यात्म व धर्म—कर्म के लिहाज से गुरू—शनि योग खासा प्रभावकारी साबित होगा।

By: deepak deewan

Published: 21 Nov 2020, 06:20 PM IST

जयपुर. देवताओं के गुरु यानि बृहस्‍पति देव ने 20 नवंबर को शनि की राशि मकर में प्रवेश कर लिया है। शनि पहले से ही मकर में ही स्थित हैं। न्याय के देवता शनि और भाग्य के देवता बृहस्‍पति का यह मिलन सभी राशियों के लिए बहुत ही महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है। ज्योतिषाचार्य पंडित सोमेश परसाई बताते हैं कि करियर, दांपत्य जीवन और धन समृद्धि के साथ ही आध्यात्म व धर्म—कर्म के लिहाज से गुरू—शनि योग खासा प्रभावकारी साबित होगा।

मेष राशि
गुरु ने आपकी राशि के 10वें भाव में प्रवेश किया है। गुरू का यह गोचर जहां आपको विख्यात बना सकता है वहीं सहकर्मियों या उच्चाधिकारियों से विवाद भी करवा सकता है। शुरुआत में बिजनेस या करियर में कुछ समस्‍याएं खड़ी हो सकती हैं। लवमेट या लाइफ पार्टनर से संबंध अच्छे बने रहने के योग हैं।

वृष राशि
गुरू का 9वें भाव में गोचर आपका भाग्‍य चमका देगा। हायर एजुकेशन में उपलब्धि मिल सकती है, विदेश यात्रा संभव है और पिता का पूरा सहयोग मिलने का योग भी बना है। लवमेट या लाइफ पार्टनर के साथ किसी लंबी यात्रा पर जा सकते हैं। बिजनेस में धन का निवेश करने के अच्‍छे परिणाम प्राप्‍त होंगे।

मिथुन राशि
8वें भाव में गुरु के गोचर की अवधि में गाड़ी चलाते वक्‍त सावधानी रखने की जरूरत दर्शा रहा है। गोचर के प्रभाव से प्रेम और दांपत्य संबंधों में लंबे समय से चली आ रही परेशानी दूर हो जाएगी। सास-ससुर से लाभ मिल सकता है पर आप अपने स्‍वास्‍थ्‍य को हल्‍के में न लें। गोचर के दौरान आपको पैसों के मामले में ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है।

कर्क राशि
7वें भाव में गुरु का गोचर दांपत्‍य जीवन में मिठास घोल देगा। आपके लाइफ पार्टनर से हल्के—फुल्के मतभेद होंगे पर प्यार ज्यादा मजबूत होगा. हालांकि अविवाहितों के विवाह में रुकावट आ सकती है। बिजनस पार्टनर के साथ संबंध खराब हो सकते हैं, सावधान बने रहें। इस अवधि में लवमेट से किसी बात को लेकर मतभेद हो सकते हैं पर बाद में संबंध सुधार भी होगा।

सिंह राशि
गुरु का यह गोचर आपको अच्छा जॉब दिला सकता है। छठवें भाव में आए गुरू किसी कानूनी मामले का समाधान भी करा सकते हैं। प्रतियोगिताओं में आपको सफलता मिल सकती है। अगर आप इस वक्‍त पार्टनर की तलाश में हैं तो यह इच्छा पूरी हो सकती है. हालांकि कोई बीमारी आपको परेशान कर सकती है। लवमेट या लाइफ पार्टनर का खास ध्‍यान रखना होगा।

कन्‍या राशि
गुरु के गोचर अवधि में अच्‍छे परिणाम प्राप्‍त हो सकते हैं। बिजनेस में सुधार होगा और नौकरी के मामले में भी सफलता प्राप्‍त होगी। लव रिलेशन में आपको अहम फैसला लेना पड़ सकता है। पार्टनर और संतान के साथ आपके संबंधों में प्‍यार और अपनत्व बढेगा. हालांकि संतान की सेहत का विशेष तौर पर ध्‍यान देने की जरूरत है।

तुला राशि
गुरू के गोचर के प्रारंभिक काल में माता के साथ संबंधों में किसी प्रकार की कड़वाहट पैदा हो सकती है। बाद में उनसे अथाह प्यार प्राप्त होगा. रियल ऐस्‍टेट में निवेश के लिए यह अच्‍छा वक्‍त है। पैतृ‍क स्‍थान और वाहन आदि का भरपूर सुख मिल सकता है। नया मकान, वाहन खरीद सकते हैं। लवमेट या लाइफ पार्टनर से अच्‍छा सुख मिलने की उम्‍मीद के योग हैं।

वृश्चिक राशि
इस वक्‍त छोटे भाई-बहनों के साथ आपके संबंध बेहतर होंगे। आपको अभी जमीन—जायदाद की खरीद फरोख्‍त करने से बचना चाहिए। गुरु ने आपकी राशि के तीसरे भाव में प्रवेश किया है जिसके कारण आपको छोटी यात्राओं पर जाना पड़ सकता है। प्रेम या वैवाहिक संबंधों में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है पर जल्‍द ही माहौल आपके अनुकूल हो जाएगा।

धनु राशि
गुरु के इस गोचर के दौरान पारिवारिक विवाद से हर हाल में बचें। जिंदगी से जुडा कोई अहम फैसला बहुत सोच—समझकर ही लें, इसमें जल्दबाजी करने की जरूरत नहीं है। इस वक्त आपकी यात्राएं शुभ होंगी. भाई-बहनों और प्रेमी—प्रेमिका या जीवनसाथी के साथ आपके रिश्‍ते सामान्‍य नहीं रहेंगे। आपको इनकी सेहत पर ध्यान देने की भी जरूरत है।

मकर राशि
गुरु गोचर आपको सबसे ज्यादा प्रभावित करेगा. आपको यह शुभ परिणाम देना दर्शाता है। करियर की दृष्टि से यह गोचर अच्‍छा है। आपका बिजनेस प्‍लान भी सफल हो सकता है और किसी मामले में नुकसान से बचा सकता है। हालांकि नौकरी, प्रेम संबंधों और दांपत्य जीवन में इस वक्‍त आपको सफलता या सुख पाने के लिए काफी अधिक प्रयास करना पड़ सकता है।

कुंभ राशि
विदेश जाने की इच्छा रखनेवालों के लिए यह समय सबसे उत्‍तम है पर गुरु गोचर के वक्‍त आपके खर्च बढ सकते हैं। अपने खर्चों पर ध्‍यान देने की जरूरत है नहीं तो आपको ही बाद में खासा नुकसान होगा। आप जीवन के प्रति सकारात्‍मक बने रहेंगे. लवमेट या लाइफ पार्टनर के साथ किसी अहम यात्रा पर जा सकते हैं।

मीन राशि
11वें भाव में गुरु का प्रवेश गोचर के दौरान कोई अहम लाभ कराएगा। आमदनी के नए स्रोत खुलेंगे.एक्‍सपोर्ट—इंपोर्ट के ब‍िजनेस में खासा लाभ मिल सकता है। बड़े भाई-बहनों के माध्यम से किसी समस्‍या का समाधान प्राप्त होगा। पुराने दोस्‍तों से संबंध प्रगाढ होंगे। लवमेट या लाइफ पार्टनर के लिहाज से भी यह वक्‍त अच्छा साबित हो सकता है।

deepak deewan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned