आधा सत्र बीता, शुरू नहीं हुआ जोन सात और नौ में पर्यटन

- सत्र के आगाज के समय पर खराब रास्तों के कारण कुछ दिनों के लिए बन्द किया था पर्यटन

By: Girraj prasad sharma

Published: 08 Dec 2019, 12:46 AM IST

सवाईमाधोपुर. रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान के मौजूदा पर्यटन सत्र के करीब ढाई से अधिक महीने बीत जाने के बाद भी अब तक रणथम्भौर के जोन सात व नौ में पर्यटकों की बुकिंग को शुरू नहीं किया गया है। ऐसे में कई पर्यटक बिना पार्क भ्रमण के रणथम्भौर से लौट रहे हैं। इससे पर्यटकों के साथ-साथ पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों में भी निराशा है। गौरतलब है कि वन विभाग ने बारिश से रास्ते खराब होने के कारण जोन ७ व ९ में बुकिंग बंद कर दी थी।

रणथम्भौर में चल रहा पीक सीजन

दिसम्बर के मौजूदा माह को रणथम्भौर का पीक सीजन माना जाता है। इस समय सर्दियों की छुट्टियां होने से रणथम्भौर में देशी-विदेशी पर्यटकों की बड़ी तादाद में आमद रहती है। देश-विदेश से बड़ी संख्या में पर्यटक सर्दी के मौसम में यहां बाघों व अन्य वन्यजीवों की अठखेलियां देखने के लिए आते हैं, लेकिन पीक सीजन के दौरान भी जोन नंबर 7 व 9 में पर्यटकों की बुकिंग शुरू नहीं होने से पर्यटक भ्रमण पर नहीं जा पा रहे हैं।

पर्यटकों व वाहन चालकों और गाइड की राशि अटकी

रणथम्भौर की मौजूदा ऑनलाइन बुकिंग का कार्य सूचना प्रौद्योगिकी विभाग से किया जाता है। कई बार सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा डवलप किए गए सॉफ्टवेयर में कमियां आने से वाहनों की बुकिंग नहीं हो पाती है, लेकिन पर्यटक के अकाउंट से राशि कट जाती है। हालांकि विभाग की ओर से कुछ दिनों में पर्यटक को यह राशि वापस खाते में डलवा दी जाती है। कुछ इस प्रकार का मामला एक बार फिर से सामने आया है। पर्यटकों की करीब ४५ लाख रुपए की राशि अटक गई है। हालांकि वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही यह राशि पर्यटकों के खाते में ट्रांसफर करवा दी जाएगी। वहीं रणथम्भौर पर्यटन से जुड़े नेचर गाइड, वाहन चालकों की राशि का भुगतान भी वन विभाग द्वारा नहीं किया जा रहा है। वाहन चालकों की मानें तो पिछले दो माह से विभाग द्वारा उनका भुगतान नहीं किया गया है।

इनका कहना है

रणथम्भौर के जोन सात व नौ रास्तों की मरम्मत का काम पूरा हो चुका है। हमने डीओआइटी को जोनों में पर्यटन बुकिंग शुरू करने के लिए पत्र लिख दिया है। जल्दी ही दोनों जोनों में बुकिंग का कार्य शुरू हो जाएगा।
- मनोज पाराशर, सीसीएफ , रणथम्भौर बाघ परियोजना, सवाईमाधोपुर

Girraj prasad sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned