रालोपा को लेकर केंद्र जो निर्देश देगा, हम वही करेंगे-पूनियां

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल की ओर से एनडीए से गठबंधन तोडऩे की घोषणा कर दी है। मगर प्रदेश भाजपा को केंद्र के दिशा-निर्देशों का इंतजार है।

By: Umesh Sharma

Published: 26 Dec 2020, 08:23 PM IST

जयपुर

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल की ओर से एनडीए से गठबंधन तोडऩे की घोषणा कर दी है। मगर प्रदेश भाजपा को केंद्र के दिशा-निर्देशों का इंतजार है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने कहा कि बेनीवाल की रालोपा का केन्द्र से गठबंधन था और इस पूरे मामले की तथ्यात्मक जानकारी केन्द्र को है। इस मामले में केन्द्र जैसा निर्देश देगा, राजस्थान भाजपा उसकी पालना करेगी। गौरतलब है कि कृषि बिलों को लेकर बेनीवाल लगातार केंद्र सरकार का विरोध कर रहे थे। पिछले दिनों ही उन्होंने संसदीय समितियों से इस्तीफा दे दिया था और शनिवार को समर्थन वापसी की घोषणा कर दी।

बेनीवाल ने गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया

छबड़ा विधायक प्रताप सिंह सिंघवी ने रालोपा के एनडीए से अलग होने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि पार्टी के मुखिया और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल कभी गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया। वे भाजपा के प्रदेश नेतृत्व की चेतावनी के बावजूद पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ लगातार अनर्गल बयानबाजी कर रहे थे। यही नहीं उन्होंने पंचायत और निकाय चुनाव में भी भाजपा के खिलाफ प्रत्याशी खड़े किए। इस स्थिति में उनके एनडीए में बने रहने का कोई औचित्य नहीं था। सिंघवी ने कहा कि रालोपा के एनडीए से अलग होने से भाजपा को कोई नुकसान नहीं होगा। बल्कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी को इसकी राजनीतिक कीमत चुकानी पड़ेगी। बेनीवाल भाजपा की मदद से नागौर से सांसद का चुनाव जीते थे। यदि उन्हें कोई गलतफहमी हो तो इस्तीफा देकर अपने बूते चुनाव लडऩा चाहिए।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned