Happy Childrens Day 2017: राजस्थान पहुंचकर जब नाराज़ हो गए थे पंडित नेहरू, ज़रूर पढ़ें इस बेहद रोचक किस्से के बारे में

नेहरू के स्वागत के लिए राजस्थान में गाजर-मूली से बनाए गए थे स्वागत द्वार, फिर हुआ कुछ ऐसा जिसकी कल्पना नहीं थी

By: nakul

Updated: 14 Nov 2017, 11:14 AM IST

जयपुर।

 

देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का राजस्थान कनेक्शन भी खासा रोचक है। जब भी कभी नेहरू के जीवन से जुडी रोचक बातों की बात होती है तो राजस्थान के पिलानी के एक किस्से का ज़िक्र ज़रूर होता है। दरअसल, पिलानी दौरे में पहुंचे नेहरू के स्वागत के लिए स्थानीय लोगों के साथ ही उनके समर्थकों और शुभचिंतकों ने जगह-जगह स्वागत द्वार लगाए थे। ये स्वागत द्वार सामान्य नहीं थे, बल्कि इन्हें हरी सब्ज़ियों और गाजर-मूली से सजाकर बनाया गया था।

 


लेकिन जब पंडित नेहरू पिलानी पहुंचे और उन्होंने इस तरह के स्वागत द्वार बने देखे तो वो खुश होने की बजाये नाराज़ हो गए। उन्होंने फ़ौरन स्वागत द्वार में लगी हरी सब्ज़ियों और गाजर-मूली को उतरवाने को कहा। इसके बाद इन सब्ज़ियों को गरीबों में बंटवा दिया।

 


यही नहीं आधुनिक भारत में प्रथम बार तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा राजस्थान के नागौर जिले के बगदरी गाँव में 2 अक्टूबर 1959 को पंचायती राज व्यवस्थ लागू की गई।

 

पंडित नेहरू से जुडी ये कोई एक रोचक बात नहीं है। आइये जानते हैं आखिर उनके जीवन से जुड़े और क्या कुछ किस्से-कहानियां हैं जो इतिहास के पन्नों में दर्ज़ हो चुके हैं और उन्हें हमेशा याद किये जाते हैं।


- नेहरू बचपन से ही इंग्लिश स्कूल में पढ़े थे, उन्हें गांवो में घूम-घूमकर हिंदी बोलनी आई थी।


- नेहरू के कपड़े धुलने के लिए लंदन जाते थे।

 

 

jawaharlal nehru

- जवाहर लाल नेहरू लाल किले पर तिरंगा लहराने वाले पहले शख्स थे।

 

- बताया जाता हैं कि चंद्र शेखर आजाद ने रूस जाने के लिए जवाहर लाल नेहरू से 1200 रूपये उधार मांगे थे।

 

- जवाहर लाल नेहरू एक बार लंदन जाने वाले थे। उनके नाई ने कहा ‘मेरे पास घड़ी नहीं हैं‘ इसलिए मैं अक्सर लेट हो जाता हूँ। तो नेहरू उसके लिए लंदन से अच्छी घड़ी लेकर आए थे।

 

- जेआरडी टाटा ने महिलाओं के लिए ब्यूटी प्रोडक्ट लैक्मे जवाहर लाल नेहरू के कहने पर बनाया था।

 

jawaharlal nehru

- नेहरू को खाना खाने के बाद 555 ब्रांड का सिगरेट पीने की आदत थी. एक बार नेहरू जी भोपाल गए थे और उनकी सिगरेट खत्म हो गई ये सिगरेट पूरे भोपाल में नहीं मिली तो एक विशेष विमान में इंदौर से सिगरेट लाई गई।

 

- महात्मा गांधी की अपील पर जब पूरा देश विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार कर रहा था, तो उस समय नेहरू को भी अपना सबसे पसंदीदा कोट फेंकना पड़ गया था। इसके बाद ही उन्होनें खादी का जैकेट पहनना शुरू किया था।

 

- जवाहर लाल नेहरू को नोबेल के लिए 11 बार नाॅमिनेट हो किया गया।

 

- कई बार उन्हें शांति के नाॅबेल के लिए भी नाॅमिनेट किया जा चुका हैं। लेकिन एक बार भी वह पुरस्कार हासिल नही कर पाए हैं।

 

- जवाहरलाल नेहरू की मौत 27 मई 1964 को हार्ट अटैक से हुई थी. उनके अंतिम संस्कार में 15 लाख लोग शामिल हुए थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned