बनानी थी 40 लेकिन 2 साल में बनी महज 5 डिस्पेंसरी

बनानी थी 40 लेकिन 2 साल में बनी महज 5 डिस्पेंसरी

raghuveer singh | Updated: 11 Jun 2016, 11:16:00 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

केंद्र सरकार ने 2013-14 में शहरी अरबन कच्ची बस्तियों में सर्वे करवाने के बाद 40 डिस्पेंसरी बनाने की मंजूरी दी थी। योजना पर करीब दो साल पहले से काम शुरू हो गया, लेकिन महज पांच डिस्पेंसरी साकार होती नजर आ रही है।

जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने 2013-14 में शहरी अरबन कच्ची बस्तियों में सर्वे करवाने के बाद 40 डिस्पेंसरी बनाने की मंजूरी दी थी। योजना पर करीब दो साल पहले से काम शुरू हो गया, लेकिन महज पांच डिस्पेंसरी साकार होती नजर आ रही है, जबकि डिस्पेंसरी की तैनाती के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से 40 चिकित्सकों को कांट्रेक्ट पर ले भी लिया है। 


कहां-कहां बननी है डिस्पेंसरी 

शहर में बनने वाली इन डिस्पेंसरी में हवा सड़क स्वेज फार्म, हरमाडा, पुराना विद्याधर नगर, नींदड, पूर्व राजस्व गांव नांगल जैसा बोहरा, अम्बाबाडी, बालाजी कॉलेज के पास, वार्ड 78 में बैरवा बस्ती के पास, लक्ष्मीनारायण पुरी, जौहरी बाजार, गोकुलपुरा कालवाड रोड, रावण गेट, कालवाड रोड, जवाहर नगर कच्ची बस्ती, आमागढ कच्ची बस्ती, ऋषिगालव नगर, गोवर्धन पुरी, पंडित टीएएन मिश्र मार्ग, खातीपुरा, जमुना नगर, स्वेज फार्म, रामनगर, गुर्जर की थड़ी, न्यू सांगानेर रोडशामिल है। 


क्यों अटक रही योजना 

डिस्पेंसरी निर्माण के लिए मांगे गए टेंडरों में पीपीपी मोड के आधार पर बनानी थी। जिसमें लोगों ने रुचि नहीं दिखाई। बकाया डिस्पेंसरी के निर्माण के लिए विभाग जल्द ही बनाने का दावा कर रहा है, जबकि जेडीए ने भी सभी जगहों पर जमीन भी आवंटित नहीं की है।


ठेके पर लिए चिकित्सकों को दिया दूसरा काम

स्वास्थ्य विभाग की ओर से इन डिस्पेंसरियों में लगाने के लिए 40 चिकित्सक कांट्रेक्ट पर भी ले लिए है, लेकिन डिस्पेंसरी नहीं होने से बेकार बैठे इन चिकित्सकों को फिलहाल अपग्रेड हुई डिस्पेंसरी में लगाकर उपयोग किया जा रहा है।


इनका कहना है 

बिल्कुल 40 डिस्पेंसरी एनयूएचएम के तहत बननी थी। चार तो पूरी तरह से काम कर रही है एक जल्द ही तैयार हो जाएगी। जैसे ही जेडीए की ओर से जमीन मिलती है हम निर्माण समेत कार्य तत्परता से कराते है। 

नरोत्तम शर्मा, मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी, जयपुर प्रथम


Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned