शोध में हुआ खुलासा, मां के साथ घरेलू हिंसा से कमजोर हो सकता है आपके बच्चों का आइक्यू

Domestic Violence: घरेलू हिंसा से कमजोर हो सकता है बच्चों का आइक्यू एक अध्ययन में सामने आया है कि घरेलू हिंसा की शिकार ( husband wife ) माताओं के बच्चों का ( Children's IQ ) आइक्यू (बौद्धिक कौशल) लेवल कमजोर होता है।

By: Kartik Sharma

Published: 27 Nov 2019, 07:37 AM IST

Domestic Violence: घरेलू हिंसा से कमजोर हो सकता है बच्चों का आइक्यू एक अध्ययन में सामने आया है कि घरेलू हिंसा की शिकार ( husband wife ) माताओं के बच्चों का ( Children's IQ ) आइक्यू (बौद्धिक कौशल) लेवल कमजोर होता है। जब बच्चा मां के गर्भ में रहता है, तब अगर माता घरेलू हिंसा का शिकार होती है या अगर बच्चा शुरुआत के छह साल इसी परिवेश में गुजारता है तो इससे भी उसका आइक्यू लेवल कमजोर हो जाता है। शोधकर्ताओं ने 3997 माताओं और उनके बच्चों पर गर्भावस्था से लेकर आठ साल तक अध्ययन किया। इस दौरान घरेलू हिंसा और उसके तरीके को मापते हुए बच्चे का आइक्यू लेवल मापा गया। हर एक माता और उनके बच्चे पर लगातार अध्ययन करने के बाद शोधकर्ता एक निष्कर्ष तक पहुंच पाए हैं। अध्ययन में 17.6 प्रतिशत माताओं ने भावनात्मक हिंसा और 6.8 प्रतिशत ने शारीरिक हिंसा की जानकारी दी थी। हालांकि मुख्य शोधकर्ता कैथरिन एबेल का कहना है कि बचपन की बुद्धिमता बड़े होने पर अच्छा करने की दृढ़ता से जुड़ी होती है। उन्होंने यह भी कहा है कि इन बच्चों के कम आइक्यू के बारे में कम ही सबूत मिले हैं।

शोध में सामने आया है कि 13 प्रतिशत ऐसी माताओं के बच्चों का आइक्यू लेवल 90प्रतिशत तक कमजोर पाया गया है। अगर मां गर्भावस्था के दौरान या बच्चे के जन्म के शुरुआती छह साल तक साथी से घरेलू हिंसा की शिकार हुई तो बच्चे का आइक्यू लेवल 22.8 प्रतिशत तक पहुंच गया है।

मैनचेस्टर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया है कि अगर माता बार-बार घरेलू हिंसा की शिकार होती रही हैं तो बच्चों का आइक्यू लेवल तीन गुना तक कम हो जाता है। शोधक र्ताओं ने कम आइक्यू को 90 से कम और एक सामान्य आइक्यू लेवल को 100 माना है।

शोधकर्ताओं ने पाया है कि सिर्फ घरेलू हिंसा ही नहीं, बल्कि और भी कारण हैं, जिससे बच्चे का आइक्यू कम हो जाता है। गर्भावस्था में शराब और तंबाकू का उपयोग, डिप्रेशन, अशिक्षा व प्रसव के दौरान विेाीय समस्याओं को भी कारण माना है।

Kartik Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned