क्या डॉ. अब्दुल हमीद को फांसी लगेगी?

क्या डॉ. अब्दुल हमीद को फांसी लगेगी?

Shailendra Kumar Agrawal | Publish: Sep, 11 2018 07:40:20 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

- हाईकोर्ट में समलेटी बम कांड़ मामले में हमीद सहित 6 की अपीलों पर आज फिर सुनवाई

करीब 23 साल पुराने समलेटी बम कांड़ मामले में डॉ. अब्दुल हमीद को फांसी व पांच अन्य को उम्रकैद की सजा के खिलाफ अपील पर हाईकोर्ट में बुधवार को भी सुनवाई जारी रहेगी। उधर, कोर्ट ने इसी मामले में सजा भुगत रहे पप्पू उर्फ सलीम की पैरोल पर रिहाई से इनकार कर दिया है।

न्यायाधीश मनीष भण्डारी व न्यायाधीश दिनेश चन्द्र सोमानी की खण्डपीठ ने इस मामले में सुनवाई की। अपील पर सुनवाई के दौरान डॉ. हमीद की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मीर अख्तर हुसैन ने अधीनस्थ अदालत के सजा के आदेश को गलत बताया, वहीं राज्य सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता सुधीर नंद्राजोग व अतिरिक्त महाधिवक्ता शिवमंगल शर्मा ने अपील का विरोध किया। फांसी की सजा की पुष्टि का प्रार्थना पत्र भी अपीलों के साथ ही सुनवाई के लिए लगा। समलेटी बम कांड में करीब दो पहले सजा हुई थी।

इन्होंने दी है सजा को चुनौती

बांदीकुई की एडीजे कोर्ट ने डॉ. अब्दुल हमीद को फांसी सुनाई, जबकि पप्पू उर्फ सलीम, रईश बेग, जावेद खान व अब्दुल गनी को उम्रकैद की सजा दी गई। इन सभी ने हाईकोर्ट में सजा को चुनौती दी है। मामले में सोमवार को सुनवाई शुरु हुई, जो बुधवार को भी जारी रहेगी।
पैरोल से इनकार
हाईकोर्ट ने पप्पू उर्फ सलीम को पैरोल देने से इनकार करते हुए कहा कि अपील लम्बित है और उस पर सुनवाई शुरु हो चुकी है, ऐसे में पैरोल का लाभ नहीं दिया जा सकता। अपील निस्तारित होने पर पैरोल के लिए पुन: याचिका दायर करने की छूट दी है। पप्पू की ओर से कहा गया कि प्रार्थी लम्बे समय से जेल में है, अत: पैरोल का लाभ दिया जाए। राज्य सरकार की ओर राजकीय अधिवक्ता ब्रह्मानन्द सान्दू ने कहा कि इस मामले में विस्फोटक अधिनियम की धाराएं हैं और वह अधिनियम केन्द्र सरकार का है, इसलिए पैरोल पर केन्द्र सरकार ही निर्णय कर सकती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned