अलर्ट!राजस्थान के इन जिलों में "आफत बनी बारिश" जमकर चला मूसलाधार बारिश का दौर, जनजीवन हुआ अस्त व्यस्त

अलर्ट!राजस्थान के इन जिलों में

rohit sharma | Publish: Sep, 08 2018 07:05:38 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर ।

राजस्थान में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो गया। प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश से बाढ़, जलभराव जैसी समस्याएं भी उत्पन्न हो गई है। कई जिलों में लगातार हो रही बारीश रुकने का नाम नहीं ले रही है। प्रदेश में मौसम वैज्ञानिकों द्वारा राजस्थान में दी गई भारी बारिश की चेतावनी सही साबित हो रही है। राजस्थान में राजधानी जयपुर समेत कोटा, झालावाड़, बारां, टोंक, अजमेर समेत कई जिलों में बारिश का दौर जारी है।


बीसलपुर बांध का बढ़ा जलस्तर

जयपुर, टोंक और अजमेर की प्यास बुझाने वाला मुख्य स्त्रोत बीसलपुर बांध को अच्छी बारिश की उम्मीद है। हालांकि पिछले दो दिनों की तुलना में आज बांध के जलग्रहण क्षेत्र में बारिश होने से बांध का जलस्तर एक सेंटीमीटर बढ़ा है। मिली जानकारी के मुताबिक बीसलपुर बांध का कुल भराव जल स्तर 315.50 आरएल मीटर है। पिछले दो दिन से बीसलपुर बांध का जलस्तर 309.26 आरएल मीटर ही था। आज सुबह भी बांध का जलस्तर 309.26 आरएल मीटर ही था लेकिन दिन में हुई बारिश के बाद बांध के जलस्तर में एक सेंटीमीटर की बढ़ोतरी हुई है। बारिश के बाद आज शाम तक बांध का जलस्तर 309.27 आरएल मीटर दर्ज किया गया।

आपको बता दें कि इस सीजन में बांध के जलग्रहण क्षेत्र में अब तक अच्छी बारिश नहीं हो पाई है। बरसाती सीजन शुरू पर हुई बारिश के बाद बांध का जलस्तर 309.37 आरएल मीटर तक पहुंच गया था लेकिन फिर बीच में बांध के जलग्रहण क्षेत्र में बारिश नहीं होने से जलस्तर घटकर 309.10 आरएल मीटर तक पहुंच गया था। अभी बांध का जलस्तर अपेक्षानुरूप नहीं है। जलदाय और सिंचाई विभाग को बांध क्षेत्र में अच्छी बारिश होने का इंतजार है। आपको बता दें कि जयपुर समेत तीन जिलों में पेयजल आपूर्ति का बीसलपुर बांध मुख्य स्त्रोत है।


पुष्कर में भी हुई तेज बारिश, विदेशी पर्यटकों ने लिया आनंद

अजमेर और पुष्कर में भी 2 दिन से सूरज पर बादलों ने डेरा डाला हुआ था और मौसम में बदलाव का सिलसिला जारी था। शनिवार को हुई तेज बारिश से पुष्कर के जयपुर घाट पर सीढ़ियों पर झरना चल उठा। वहीं विदेशी पर्यटकों ने भी पुष्कर में हुई बारिश का लुत्फ लिया। अजमेर भी शनिवार को बारिश का दौर चला।


बारां में तेज बारिश का प्रकोप, दर्जनों मकान ढह

प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश का दौर के साथ-साथ बारां जिले में बारिश जारी है। बारां में लगातार दस घण्टे के करीब हुई मूसलाधार बरसात से बाढ़ जैसे हालत बन गए है। बारिश के चलते दो लोगों की मौत की खबर है। कई नदियां उफान मार रही हैं। बारां में तेज बारिश से दर्जनों मकान भी ढह गए हैं मकान में दबने से कई लोगों की भी मौत हो गई है।


झालावाड़ में तेज बारिश, कच्ची बस्तियों में भरा पानी, जनजीवन अस्त व्यस्त

वहीं प्रदेश के झालावाड़ क्षेत्र में भी लगातार बारिश का दौर चल रहा है। कस्बे में रात से शुरू हुई बारिश लगातार हो रही है। कस्बे में सुबह भी कुछ देर रुक-रुककर बारिश का दौर चल रहा है। कभी हल्की कभी तेज बारिश से निचली बस्तियों में पानी भर गया। कस्बे में आज भी कई ऐसी बस्तियां है जहां हल्की बारिश में ही करीब डेढ़ से 2 फीट पानी जमा हो जाता है। इसके कारण क्षेत्रवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

अकलेरा के समीप छापी बांध में पानी की आवक तेज गति से हो रही है। कनिष्ठ अभियंता प्रमोद नागर ने बताया कि बाद में पानी की आवक होने पर चार गेट खोल कर पानी की निकासी की जा रही है। सुबह 6 बजे दो गेट खोल कर पानी की निकासी की। इसके बाद 7 बजे फिर से दो गेट और खोले गए। बांध के 4 गेटों से दो-दो मीटर पानी की निकासी की जा रही है।

 

आधा दर्जन जिलों में मूसलाधार के बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग के अनुसार उत्तरी पाकिस्तान की ओर सक्रिय चक्रवाती तंत्र पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ रहा है। वहीं मध्यप्रदेश के उत्तर पश्चिमी हिस्सों में बने निम्न वायुदाब क्षेत्र के असर से प्रदेश के उत्तर पूर्व और दक्षिण के कुछ जिलों में अगले चौबीस घंटे में भारी बारिश होने का अनुमान है। विभाग ने आज भरतपुर, अलवर, सवाई माधोपुर और धौलपुर में भारी बारिश होने का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। प्रदेश के पश्चिमी जिलों को फिलहाल अच्छी बारिश का इंतजार करना पड़ रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned