पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश के आसार, बीसलपुर में मूसलाधार, यहां 1 दर्जन से अधिक गांवों के रास्ते बंद

पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश के आसार, बीसलपुर में मूसलाधार, यहां 1 दर्जन से अधिक गांवों के रास्ते बंद

Dinesh Saini | Updated: 13 Sep 2019, 10:09:55 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Heavy Rain in Bisalpur: आगामी 20 सितंबर तक राज्य से दक्षिण पश्चिमी मानसून विदाई लेने वाला है लेकिन उससे पहले अगले दो दिन पूर्वी राजस्थान के कुछ इलाकों में मूसलाधार ( Heavy Rain in Rajasthan ) बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ( IMD ) के अनुसार ( Rajasthan Weather Forecast ) राज्य के अनूपगढ़ और अलवर से होकर मानसून की टर्फ लाइन गुजर रही है...

जयपुर। आगामी 20 सितंबर तक राज्य से दक्षिण पश्चिमी मानसून विदाई लेने वाला है लेकिन उससे पहले अगले दो दिन पूर्वी राजस्थान के कुछ इलाकों में मूसलाधार ( Heavy Rain in Rajasthan ) बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ( IMD ) के अनुसार ( Rajasthan Weather Forecast ) राज्य के अनूपगढ़ और अलवर से होकर मानसून की टर्फ लाइन गुजर रही है वहीं उत्तर प्रदेश के दक्षिण भाग में साइक्लोनिक सर्कुलेशन सक्रिय हो रहा है। इसके साथ ही मध्यप्रदेश के उत्तरी इलाकों में कम वायुदाब क्षेत्र बना हुआ है जिसके चलते विदाई से पहले दक्षिण पश्चिमी मानसून प्रदेश के कुछ इलाकों को जमकर तर कर सकता है। वहीं बूंदी में भारी बारिश ( Heavy Rain ) के चलते एक दर्जन से अधिक गांवों के रास्ते बंद हो गए। उधर बीती शाम बीसलपुर डेम ( Heavy Rain in Bisalpur ) के कैचमेंट एरिया में हुई मूसलाधार बारिश के कारण पानी का दबाव बढ़ते ही डेम के दो अतिरिक्त गेट आज सुबह खोलने पड़े हैं। त्रिवेणी में अब भी पानी का बहाव ढाई मीटर उंचाई पर रहा है।

 

बीसलपुर में पौने चार इंच बारिश ( Bisalpur Dam )
बीसलपुर बांध परियोजना स्थित कंट्रोल रूम की सूचना के अनुसार गुरूवार शाम तक बीसलपुर डेम के दो गेट एक— एक मीटर उंचाई तक खोलकर पानी की निकासी की जा रही थी। वहीं देरशाम डेम के कैचमेंट एरिया में पौने चार इंच बारिश होने पर डेम में पानी का दबाव बढ़ गया। जिसके चलते डेम के दो अतिरिक्त आज सुबह 5.30 बजे खोले गए हैं। आज सुबह डेम के चार गेट दो— दो मीटर उंचाई तक खोलकर 48080 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। बीती शाम ही देवली में भी 55 मिमी बारिश रेकॉर्ड की गई है। जल संसाधन विभाग के अधिशाषी अभियंता रविंद्र कटारा के अनुसार सितंबर माह के आगामी दिनों में भी डेम से पानी की निकासी जारी रहेगी। त्रिवेणी में लगातार पानी का बहाव बना हुआ है और सहायक नदियों से भी पानी की आवक डेम से लगातार हो रही है। डेम में पानी की आवक पर निगरानी रखी जा रही है और आवक के अनुसार डेम के गेट खोलने व बंद करने के निर्देश कर्मचारियों को दिए गए हैं।

बांसवाड़ा में भारी बारिश, खेत हुए जलमग्न
बांसवाड़ा जिले में भारी बारिश का दौर जारी है। लगातार बरसात से ग्रामीण क्षेत्रों में रपट पर पानी से संपर्क कट गया है। जिले के कई गांवों में खेत जल मग्न हो गए है। फसल खराबे को लेकर किसान चिंतित हैं। माही बांध में पानी की आवक जारी रहने से गेट खोलकर पानी निकासी का क्रम बना हुआ है।

 

बूंदी में बारिश ने रोकी कई गांवों के राह ( Heavy Rain Bundi )
बूंदी के हिंडोली कस्बे सहित क्षेत्र के कई गांवो में रात से हो रही भारी बारिश के चलते 1 दर्जन से अधिक गांवों के रास्ते बंद हो गए। जिससे शुक्रवार को सरकारी कर्मचारी भी गंतव्य तक नहीं पहुंच पाए। जानकारी के अनुसार हिंडोली से काछोला हरणा मार्ग पर राम सागर झील की चादर चलने से रास्ते में दो से ढाई फीट पानी भर गया। जिससे मार्ग बंद हो गया। वहीं पर सिंघाडी से सहसपुरिया जाने वाला मार्ग भी अवरुद्ध है। राष्ट्रीय राजमार्ग से चेनपुरा टरडक्या जाने वाले मार्ग पर खाल पर पानी भरने से रास्ता भी अवरुद्ध है। वहीं पर मैज नदी दबलाना के पास चल रहे खाल उफान पर दबलाना भवानीपुरा मार्ग बंद हो गया। धोवडा विद्यालय के पास पानी भरा रहने से यह मार्ग बाधित हो रहा है। इसके अलावा डाबेटा, पगारा, सहित कई मार्गों में पानी भरा होने के कारण यह मार्ग अवरुद्ध हो रहा है। इसके अलावा कई मजदूरों व गांव में रास्ते में पानी भरने से भी रास्ते भी अवरूद्ध हो गए हैं। स्कूलों में छात्र नहीं पहुंच पा रहे हैं। अधिकांश सरकारी स्कूलों के भवन पानी से टपक रहे हैं।

 

बीते 24 घंटे में हाड़ौती संभाग के कई इलाकों में झमाझम बारिश हुई। कोटा में 41 मिमी पानी बरसा वहीं जयपुर शहर की पेयजल लाइन बीसलपुर डेम पर 84 और देवली में 55 मिमी बारिश रेकॉर्ड हुई। राजधानी जयपुर में बीती रात बदले विंड पैटर्न से रात में उमस से आंशिक राहत मिली वहीं आज सुबह शहर में छाए बादलों से आज शहर में झमाझम बारिश होने की उम्मीद है। हालांकि शहर में अब भी दिन व रात में पारा सामान्य से तीन डिग्री ज्यादा दर्ज हो रहा है। आज सुबह छह बजे शहर का अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है।

 

वहीं दूसरी तरफ पश्चिमी राजस्थान में दिन में झुलसाती गर्मी का असर जारी है। गुरूवार को श्रीगंगानगर 42.2 डिग्री तापमान के साथ सबसे गर्म रहा वहीं चूरू 42.1, बीकानेर 40.1 और जैसलमेर में दिन में पा 39.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 48 घंटे में बांसवाड़ा और झालावाड़ के कुछ इलाकों में तेज बारिश होने की संभावना है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned