जयपुर में भारी बारिश, जलमहल पर चली 4 फीट तक की चादर

जयपुर जिले में मानसून शुक्रवार को सुबह से दोपहर तक जम कर मेहरबान रहा। जिससे जिले के कई बांधो में कई फीट की चादर चल गई तो कई बांधों में पानी की आवक भी हुई।

By: PUNEET SHARMA

Updated: 15 Aug 2020, 08:55 AM IST

जयपुर। जयपुर जिले में मानसून शुक्रवार को सुबह से दोपहर तक जम कर मेहरबान रहा। जिससे जिले के कई बांधो में कई फीट की चादर चल गई तो कई बांधों में पानी की आवक भी हुई।

शुक्रवार की बारिश से जयपुर शहर में जलमहल की पाल पर चार फीट की चादर चल गई तो चाकसू के शिव की डूंगरी ,सांगानेर के गुलर और रामचंद्रपुरा बांध पर डेढ फीट तक की चादर चल गई।

इसके अलावा चंदलाई बांध पर नौ इंच पानी की चादर चली। वहीं कई घंटे तक चली झमाझम बारिश के बाद भी रामगढ बांध का कंठ सूखा ही रहा। सिचाई विभाग के अधीन जयपुर के 32 बांधों में से 16 बांधों में ही पानी आया।


जयपुर जिले के इन बांधों में शुक्रवार शाम 5 बजे तक जल स्तर की स्थिति
रायवाला—जमवारामगढ—10.6 फीट
खरड़—जमवारामगढ—27.1 फीट
मानसागर—जलमहल—12 फीट
कानोता बांध—बस्सी—13.6 फीट
खेजड़ी—चाकसू—4.2 फीट
शील की डूंगरी—चाकसू'9 फीट
शिव की डूंगरी—चाकसू—15 फीट
चंदलाई—चाकसू—10 फिट
नेवटा—सांगानेर—12.10 फीट
गुलर—सांगानेर—13 फीट
रामचंद्रपुरा—सांगानेर—8 फीट
बुचारा—कोटपूतली—4.6 फीट
हनुमानसागर—दूदू—5.10 फीट
बांडोलाव नरेना—दूरू—1.6 फीट
नया सागर—मौजमाबाद—5 फीट
धोबोलाब—दूदू—2.1 फीट
सभी आंकडे सिचाई विभाग की ओर से शाम 5 बजे तक जारी किए गए हैं।

रामगढ़ बांध ने नहीं दी खुशखबरी
जयपुर जिले पर शु्क्रवार को मानसून मेहरबान रहा। रामगढ की रोडा, ताला और माधववेणी नदियों में पानी आया। लेकिन जेडीए और सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर बनाई गई सड़कों और बांध के बहाव क्षेत्र में अतिक्रमणों के कारण बांध तक पानी नहीं पहुंच सका।

PUNEET SHARMA Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned