50 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से आए तूफान ने हिलाया पूरा जयपुर, कई पेड़-बिजली के पोल धराशाही, आज फिर से बारिश की संभावना

50 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से आए तूफान ने हिलाया पूरा जयपुर, कई पेड़-बिजली के पोल धराशाही, आज फिर से बारिश की संभावना

Dinesh Saini | Updated: 18 Sep 2019, 10:44:08 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Heavy Rain in Jaipur: राजधानी में मंगलवार रात अचानक मौसम ( Heavy Rain in Rajasthan ) बदल गया। तेज आंधी के साथ बारिश हुई। इस दौरान 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली। इस दौरान जयपुर में आधे शहर की बिजली गुल हो गई। विद्याधर नगर, अजमेर रोड पुरानी चुंगी, मुरलीपुरा में पेड़ गिर गिरने की सूचना जिला कलक्ट्रेट कंट्रोल रूम में पहुंची...

जयपुर। राजधानी में मंगलवार रात अचानक मौसम ( Heavy Rain Jaipur ) बदल गया। तेज आंधी के साथ बारिश हुई। बारिश के बाद जयपुर का पारा 9 डिग्री गिर गया। इस दौरान 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली। इस दौरान जयपुर में आधे शहर की बिजली गुल हो गई। विद्याधर नगर, अजमेर रोड पुरानी चुंगी, मुरलीपुरा में पेड़ गिर गिरने की सूचना जिला कलक्ट्रेट कंट्रोल रूम में पहुंची। मानसरोवर, भांकरोटा, सांगानेर, मुरलीपुरा, सी—स्कीम, महेशनगर सहित कई इलाकों में बिजली गुल हो गई। कई जगह बिजली एक से दो घंटे के बाद आई। वहीं बगरू में आंधी से 16 बिजली के पोल गिर गए। मंगलवार का जयपुर में अधिकतम पारा 36.3 डिग्री दर्ज किया गया। रात साढ़े आठ बजे बारिश हुई। बारिश के बाद नौ बजे पारा गिरकर 27 डिग्री पर आ गया। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में राजस्थान के कई जिलों में मौसम तंत्र सक्रिय होने पर बारिश का दौर शुरू होने की उम्मीद जताई है। वहीं मौसम विभाग ( IMD ) की माने तो जयपुर में आज शाम तक मौसम फिर बदल सकता है और बारिश हो सकती है। इसी के साथ मौसम विभाग ने पूर्वी उत्तर प्रदेश, अंडमान-निकोबार , गुजरात, मराठवाड़ा, तेलंगाना, कर्नाटक के भीतरी क्षेत्रों के साथ मराठवाड़ा में तेज बारिश की संभावना जताई है। अंडमान निकोबार आइलैंड के कुछ क्षेत्रों में आंधी तूफान के साथ 50 से 60 किमी. प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेगी।


आज फिर से बारिश की संभावना ( Rajasthan Weather Forecast )
जयपुर स्थित मौसम विज्ञान केन्द्र के मुताबिक मॉनसून अब राजस्थान से विदा होने की कगार पर पहुंच गया है। इसके कारण प्रदेशभर में बरसात का दौर भी थम सा गया है। हालांकि कहीं—कहीं हल्की बरसात हो सकती है। राजधानी जयपुर में आज मौसम शुष्क रहेगा। शाम के समय कुछ इलाकों में आज फिर से बारिश की संभावना है।

बीसलपुर बांध से पानी की निकासी जारी ( Bisalpur Dam )
बीसलपुर बांध के कैचमेंट एरिया में बारिश का दौर थमने से बांध में पानी की आवक घट गई है। आज सुबह बीसलपुर बांध के दो गेट एक—एक मीटर तक खोलकर बनास नदी में प्रति सेकंड 12 हजार 20 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। वहीं, त्रिवेणी का गेज 2.60 मीटर दर्ज किया गया है। जबकि बीसलपुर बांध के पिछले चार—पांच दिन से पानी का आवक ज्यादा हो रही थी इस कारण 8 गेट खोलने पड़े थे।

कोटा बैराज के 19 में से 11 गेट बंद
मध्यप्रदेश में हुई भारी बरसात से हाड़ौती और वागड़ में बने बाढ़ के हालात में आज सुधार आने लगा है। चम्बल नदी पर बने कोटा बैराज के 19 में से 11 गेट बंद कर दिए गए हैं। इससे चम्बल नदी के डाउन स्ट्रीम में पानी उतरने लगा है। आज कोटा बैराज के 8 गेट खोलकर 1,57,820 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। जबकि दो दिन पहले भारी बारिश के कारण कोटा बैराज के सभी 19 गेट खोलकर साढ़े 7 लाख क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही थी, इसके कारण चम्बल किनारे के निचले इलाकों में पानी भर गया था। अब कोटा बैराज से पानी निकासी कम होने से बूंदी जिले के केशोरायपाटन और धौलपुर जिले में चम्बल किनारे निचले इलाकों में बने बाढ़ के हालात से राहत मिलने लगी है। कोटा बैराज का वर्तमान गेज 852 फीट पर बना हुआ है। हाड़ौती में बरसात का दौर कमजोर पडऩे से सवाई माधोपुर—कोटा मार्ग वाया इटावा शुरू हो गया है। झालावाड़ जिले में भी बाढ़ के हालात में सुधार आया है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned