पट्टे की 'तैयारी', सिर्फ खानापूर्ति

2 अक्टूबर से शुरू होने वाले प्रशासन शहरों के संग अभियान (Administration campaigns with cities) को सफल बनाने के लिए जयपुर ग्रेटर (Jaipur Greater Municipal Corporation) और हेरिटेज नगर निगम (Heritage Municipal Corporation) की ओर से बुधवार को तैयारी शिविर लगाए गए, लेकिन निगम प्रशासन की अधूरी तैयारी के साथ शुरू हुए शिविर का पूरा फायदा जनता को नहीं मिल पाया।

By: Girraj Sharma

Published: 15 Sep 2021, 09:22 PM IST

पट्टे की 'तैयारी', सिर्फ खानापूर्ति

— प्रशासन शहरों के संग अभियान से पहले प्री कैम्प
— जयपुर ग्रेटर और हेरिटेज निगम में लगे शिविर

जयपुर। 2 अक्टूबर से शुरू होने वाले प्रशासन शहरों के संग अभियान (Administration campaigns with cities) को सफल बनाने के लिए जयपुर ग्रेटर (Jaipur Greater Municipal Corporation) और हेरिटेज नगर निगम (Heritage Municipal Corporation) की ओर से बुधवार को तैयारी शिविर लगाए गए, लेकिन निगम प्रशासन की अधूरी तैयारी के साथ शुरू हुए शिविर का पूरा फायदा जनता को नहीं मिल पाया। लोग अपने मकानों का पट्टा बनवाने की जानकारी लेने शिविर स्थलों पर पहुंचे, लेकिन अधिकारियों और कर्मचारियों की कमी और बिना गाइडलाइन के वे जनता को संतुष्ट जवाब नहीं दे पाए। ऐसे में पहले दिन तैयारी शिविर में खानापूर्ति अधिक नजर आई। कुछ जोन कार्यालयों में कर्मचारी ही गायब मिले।

हेरिटेज नगर निगम ने पहले दिन मुख्यालय सहित हवामहल-आमेर जोन, आदर्श नगर जोन, किशनपोल जोन और सिविल लाइंस जोन कार्यालयों में शिविर लगाए। इन तैयारी शिविरों में जनता अपने मकानों का पट्टा लेने के लिए पूछताछ करती नजर आई, कुछ लोग आवेदन की प्रक्रिया जानने पहुंचे, लेकिन अधिकारी और कार्मिक जनता को संतुष्टपूर्ण जवाब नहीं दे पाए। कुछ जगहों पर शिविरों में कार्मिकों की कमी नजर आई। ऐसे में पहले दिन शिविर का लोगों को फायदा नहीं मिल पाया।

जयपुर ग्रेटर नगर निगम में मालवीय नगर जोन कार्यालय, सांगानेर जोन का सांगोनर जोन कार्यालय, विद्याधर नगर जोन का अम्बाबाडी सामुदायिक केन्द्र अम्बाबाडी सर्किल पर, मुरलीपुरा जोन का मुरलीपुरा सामुदायिक केन्द्र में, मानसरोवर जोन का शिविर गोखले मार्ग शिप्रा पथ रोड़ मानसरोवर में आयोजित किया गया। इसी प्रकार झोटवाड़ा जोन के लिए तारा नगर डी, खिरणी फाटक झोटवाडा जोन में प्री कैम्प आयोजित किया गया। कई जगहों शिविरों में अधिकारी ही नजर नहीं आए। कुछ जगहों पर एक—दो कर्मचारी बैठे नजर आए, लेकिन बिना गाइडलाइन की जानकारी के वे लोगों को पट्टों के लिए आवश्यक दस्तावेज व छूट आदि की जानकारी नहीं दे पाए।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned