चला कानून का डंडा, तो जिम्मेदारों की टूटी नींद

खाली पड़ी करीब 50000 वर्ग गज जमीन पर कब्जे हो रहे हैं। यहां रहने वाले लोग इसी जमीन पर खुले में शौच करने से लेेकर कचरा तक डालते हैं।

By: SAVITA VYAS

Published: 15 Nov 2018, 01:35 PM IST

जयपुर। एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान को साकार करने का प्रण लिया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर स्मार्ट सिटी जयपुर में ही निगम की अनदेखी के चलते स्वच्छता अभियान की धज्जियां उड़ाई जा रही है। मोती डूंगरी जोन क्षेत्र के गणेश नगर में खाली पड़ी जमीन की सफाई नहीं होने से जगह—जगह कचरे के ढेर लगे हैं। हालात यह है कि लोग खुले में शौच करने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं। इसको लेकर हाईकोर्ट के नाराजगी जताने के बाद निगम अधिकारी मौके पर पहुंचे और व्यवस्थाओं को सुधारने के विकल्प तलाशे। यहां खाली पड़ी करीब 50000 वर्ग गज जमीन पर कब्जे हो रहे हैं। यहां रहने वाले लोग इसी जमीन पर खुले में शौच करने से लेेकर कचरा तक डालते हैं। एमडी जोन उपायुक्त अशोक सांखला प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे और क्षेत्र का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने सुलभ कॉम्प्लेक्स निर्माण की बात भी आचार संहिता के बाद कही। साथ ही सफाई व्यवस्था को बेहतर बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। स्थानीय लोगों का कहना है कि बीते कई सालों से इस खाली पड़ी जमीन पर कब्जा हो रहा है और सफाई व्यवस्था भी ठीक नहीं है।

SAVITA VYAS Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned