scriptHigher returns in Booster SIP as compared to normal SIP | Mutual fund SIP: सामान्य एसआईपी की तुलना में बूस्टर एसआईपी में ज्यादा रिटर्न | Patrika News

Mutual fund SIP: सामान्य एसआईपी की तुलना में बूस्टर एसआईपी में ज्यादा रिटर्न

बूस्टर एसआईपी ( Booster SIP ) एक ऐसी सुविधा है, जिसमें सोर्स स्कीम में पूर्व-निर्धारित अंतराल पर एक निश्चित राशि का निवेश किया जाता है और इक्विटी वैल्यूएशन ( equity valuation ) इंडेक्स के आधार पर पूर्व-निर्धारित अंतराल पर एक परिवर्तनीय राशि टारगेट स्कीम में ट्रांसफर की जाती है।

जयपुर

Published: June 04, 2022 10:36:22 am

बूस्टर एसआईपी एक ऐसी सुविधा है, जिसमें सोर्स स्कीम में पूर्व-निर्धारित अंतराल पर एक निश्चित राशि का निवेश किया जाता है और इक्विटी वैल्यूएशन इंडेक्स के आधार पर पूर्व-निर्धारित अंतराल पर एक परिवर्तनीय राशि टारगेट स्कीम में ट्रांसफर की जाती है। बूस्टर एसआईपी निवेशकों को सोर्स स्कीम में अनुशासित तरीके से निवेश करने की अनुमति देता है और नियमित अंतराल पर ईवीआई मॉडल के आधार पर आधार किस्त राशि के 0.1 से 10 गुना की सीमा में टारगेट स्कीम में एक परिवर्तनीय राशि (variable amount) स्थानांतरित करता है। सामान्य एसआईपी की तुलना में बूस्टर एसआईपी में निवेशकों को ज्यादा रिटर्न मिलता है। इस फीचर के जरिए जब इक्विटी वैल्यूएशन महंगा माना जाता है तो बेस किस्त की एक छोटी राशि का निवेश किया जाता है। इसके विपरीत, जब वैल्यूएशन को सस्ता माना जाता है, तो निवेश अपेक्षाकृत अधिक मूल्य का होगा। उदाहरण के लिए, यदि मूल किश्त राशि 10,000 रुपए तो यह बाजार की स्थितियों के आधार पर कहीं भी 1000 रुपए से 1 लाख रुपए के बीच निवेश करता है। ईवीआई के आधार पर गुणक (0.1 से 10 गुना) का निर्धारण किया जाता है।
Mutual fund SIP: सामान्य एसआईपी की तुलना में बूस्टर एसआईपी में ज्यादा रिटर्न
Mutual fund SIP: सामान्य एसआईपी की तुलना में बूस्टर एसआईपी में ज्यादा रिटर्न
टारगेट स्कीम में निवेश को भी पीछे छोड़ा
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल एएमसी के प्रोडक्ट एवं रणनीति प्रमुख चिंतन हरिया ने कहा कि बूस्टर एसआईपी डाइनैमिक किस्त के माध्यम से टारगेट स्कीम में निवेश को भी पीछे छोड़कर रुपए की लागत औसत और मूल्य औसत का फायदा उठाता है। मार्केट वैल्यूएशन जिसके आधार पर किस्त की राशि तय की जाती है, इन-हाउस इक्विटी वैल्यूएशन इंडेक्स पर आधारित होती है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड पहली कंपनी है जिसने आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल बूस्टर सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (बूस्टर एसआईपी) सुविधा की इंडस्ट्री में शुरुआत की है। नियमित निवेश के अनुशासनात्मक दृष्टिकोण से निवेशक को बड़ा फायदा होता है, क्योंकि उसे बाजार को सक्रिय रूप से ट्रैक करने की आवश्यकता नहीं होती है। बूस्टर एसआईपी डायनेमिक किस्त के आधार पर इक्विटी और डेट में निवेश करता है। नतीजतन, यह सुविधा निवेशकों को बाजार की डांवाडोल स्थितियों से अधिक लाभ उठाने में मदद करती है और उन लोगों की भी मदद करती है, जो लंबी अवधि के लिए निवेश करने के लिए इष्टतम निवेश दृष्टिकोण की तलाश में हैं। बूस्टर एसआईपी सोर्स स्कीम में एक निश्चित एसआईपी राशि है जिसे मासिक एसटीपी के माध्यम से टारगेट स्कीम्स में इक्विटी वैल्यूएशन आधारित (ईवीआई) आधारित गुणक का उपयोग करके बेस इंस्टॉलमेंट अमाउन्ट पर ट्रांसफर किया जाता है। गुणक या मल्टीप्लायर वह सीमा है जिस तक बेस इंस्टॉलमेंट अमाउन्ट के आधार पर एसटीपी की राशि अलग हो सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नामबिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Google ने दिल्ली हाई कोर्ट को दी जानकारी, हटाए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उनकी बेटी के खिलाफ पोस्ट वेब लिंक'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी कीAsia Cup 2022 के लिए टीम इंडिया का हुआ ऐलान, विराट कोहली-केएल राहुल की हुई वापसी'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.