scriptHigher returns on investing in PPF, know-here | Public Provident Fund: पीपीएफ में निवेश करने पर ज्यादा रिटर्न, जानें-यहां | Patrika News

Public Provident Fund: पीपीएफ में निवेश करने पर ज्यादा रिटर्न, जानें-यहां

कोरोना काल में निवेशकों ( ppf investment ) के लिए पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड ( Public Provident Fund ) यानि पीपीएफ निवेश का पसंदीदा स्थान बन गया है। पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड अथवा लोक भविष्य निधि भारत में बचत एवं कर-बचत करने के लिए प्रयुक्त एक जमा योजना है।

जयपुर

Published: April 26, 2022 01:19:49 pm

कोरोना काल में निवेशकों के लिए पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड यानि पीपीएफ निवेश का पसंदीदा स्थान बन गया है। पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड अथवा लोक भविष्य निधि भारत में बचत एवं कर-बचत करने के लिए प्रयुक्त एक जमा योजना है। बहुत से लोग इसे सेवानिवृति के समय धन प्राप्ति का साधन भी मानते हैं। पीपीएफ का खाता किसी डाकघर में, भारतीय स्टेट बैंक की किसी शाखा में, तथा कुछ अन्य राष्ट्रीकृत बैंकों में खोला जा सकते हैं। लेकिन अभी कई लोग इसके फायदों के बारें में नहीं जानते है। इसे कैसे खोल सकते हैं और क्या इसके नियम और फायदे है।
Public Provident Fund: पीपीएफ में निवेश करने पर ज्यादा रिटर्न, जानें-यहां
Public Provident Fund: पीपीएफ में निवेश करने पर ज्यादा रिटर्न, जानें-यहां
कैसे खोलें अकाउंट
सरकार ने कुछ पोस्ट ऑफिस और बैंकों को पीपीएफ अकाउंट खोलने का अधिकार दे रखा है। कुछ बैंक ऑनलाइन अकाउंट खोलने की भी सुविधा दे रहे हैं। ऐसे बैंकों में आप घर बैठे भी पीपीएफ अकाउंट खोल सकते हैं।
नहीं होने चाहिए एक से ज्यादा अकाउंट
आपने अपने नाम पर एक से ज्यादा अकाउंट खुलवा रखे हैं तो पहले अकाउंट को छोड़कर सभी डीऐक्टिवेट कर दिए जाएंगे। तब आपको उन अकाउंट में जमा की गई रकम ही वापस होगी, ब्याज नहीं मिलेगा। अगर आपके नाम पर जनरल प्रविडेंट फंड (जीपीएफ) अकाउंट या एंप्लॉयी प्रविडेंट फंड (ईपीएफ) अकाउंट है, तो भी पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं।
पीपीएफ में ब्याज दर फिक्स नहीं
पीपीएफ में ब्याज दर फिक्स नहीं है, बल्कि यह दस साल की अवधि वाले सरकारी बॉन्ड यील्ड से जुड़ी होती है। सरकार अपनी सिक्यॉरिटीज पर मिले यील्ड के आधार पर हर तिमाही पीपीएफ के लिए ब्याज दर निर्धारित करती है। इस साल के लिए यह 7.10 फीसदी फिक्स किया गया है।
नाबालिग बच्चे के लिए भी अकाउंट
व्यक्ति अपने नाबालिग बच्चे के नाम पर भी अकाउंट खुलवा सकते हैं। हालांकि, वह बच्चे का ही अकाउंट होगा, आप सिर्फ गार्डियन रहेंगे। बच्चे के माता-पिता के जिंदा रहते दादा-दादी उसके लिए पीपीएफ अकाउंट नहीं खुलवा सकते। हां, अगर मां-पिता ने दादा-दादी को बच्चे का कानूनी अभिभावक नियुक्त कर दिया हो तो मां-पिता की मौत के बाद दादा-दादी बच्चों के लिए पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं।
अकाउंट एक्टिव रखने के लिए जरूरी
अकाउंट ऐक्टिव रखने के लिए सालाना 500 रुपए कम से कम अकाउंट में डालने होंगे, और इसमें ज्यादा-से-ज्यादा 1.5 लाख रुपए ही जमा किए जा सकते हैं। यह राशि् आपके की ओर से खोले गए सभी अकाउंट पर लागू होगी, यानि सालाना आप इसमें 1.5 लाख तक ही जमा कर सकते है। इस पर सेक्शन 80C के तहत टैक्स छूट मिलती है। इतना ही नहीं, इस निवेश पर जो ब्याज मिलता है, वह भी सेक्शन 10 के तहत टैक्स छूट के दायरे में आता है। इसके अलावा इंट्रस्ट और मैच्योरिटी पर मिलने वाले पूरे पैसों पर कोई टैक्स नहीं लगता है।
लोन की सुविधा भी उपलब्ध
पीपीएफ अकाउंट के एवज में लोन भी ले सकते हैं और जमा रकम में से कुछ हिस्सा निकाल भी सकते हैं। मैच्योरिटी से पहले पीपीएफ अकाउंट बंद करवाने की भी सुविधा है। हालांकि, खाता खुलने के पांच साल पूरा होने के बाद कुछ खास मामलों में इसकी अनुमति दी जा जाती है।
15 साल का निवेश
यह सरकार की लंबी अवधि की निवेश योजना है, जिसका प्रावधान पीपीएफ एक्ट, 1968 में किया गया है। पीपीएफ 15 साल की मैच्योरिटी वाली स्कीम है, जिसे 5-5 साल के लिए जितनी मर्जी उतनी अवधि तक बढ़ा सकते हैं। अकाउंट में एक साल में 12 बार ही पैसे डाले जा सकते हैं। इसमें एकमुश्त रकम भी निवेश कर सकते है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.