हर दिन 5 किलो केले, 20 किलो चोकर और 40 किलो कुटटी है दरियाई घोडे की डाइट

जयपुर के टूरिस्ट करीब २२ दिन बाद ही हिप्पो को देख पाएंगे।

By: Nishi Jain

Published: 14 Aug 2019, 02:14 PM IST

 

जयपुर

जयपुर के नाहरगढ़ जूलॉजिकल पार्क में दरियाई घोड़े के आने से वन विभाग में खुशी की लहर दौड़ चुकी हैं। मंगलवार को सुबह 6 बजे दिल्ली से हिप्पो को जयपुर जूलॉजिकल पार्क लाया गया। हालांकि जयपुर के टूरिस्ट करीब २२ दिन बाद ही हिप्पो को देख पाएंगे।

 

आक्रामक शैली का जानवर है हिप्पो

हिप्पो आक्रामक शैली का जानवर है। यह दिन के ज्यादातर समय सिर्फ पानी में ही रहता है। खाना खाने के लिए ही बाहर आता है। यह शाकाहारी है। इसका जीवन काल करीब ५० साल का होता हैं। यह अपना मुंह करीब ५ फीट तक खोल सकता हैं। इसका वजन ४ से ५ टन का होता है। हिप्पो धूप से बचने के लिए ज्यादातर समय पानी में ही रहता है ।

४० कुट्टी, ३० किलो मैश होगा डेली का खाना

डॉक्टर अशोक ने बताया कि दरियाई घोड़े के खाने में रोज ४० किलो कुटटी और ३० किलो मैस दिया जाएगा। मैश में रई, मक्का, जौ, चना, मूंगफली की खल मिला बनाई जाती हैं। इसके साथ ही रोज ५ किलो केले भी दिए जाएगे।

 

फीमेल भी आएगी

जानकारी के अनुसार करीब १ सप्ताह के अंदर ही फीमेल को जयपुर लाया जाएगा। दरियाई घोड़े मेल की अभी उम्र लगभग ५ साल है। दोनों के आने के बाद वन विभाग के निर्देशानुसार इनके नाम रखे जाएगे।

Nishi Jain Content Writing
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned