कटारिया का सीएम को पत्र, इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश करना ठीक नहीं

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर दसवीं ओर बारहवीं की पुस्तकों में इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि इन पुस्तकों में महाराणा प्रताप के हल्दीघाटी के युद्ध और उदयसिंह पर जो टिप्पणियां की गई है वो इतिहास को दूषित करने का काम कर रही है। ये पुस्तकें लाखों लोगों की भावनाओं को भी आघात पहुंचा रहे हैं।

By: Umesh Sharma

Updated: 30 Jun 2020, 04:17 PM IST

एंकर

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर दसवीं ओर बारहवीं की पुस्तकों में इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि इन पुस्तकों में महाराणा प्रताप के हल्दीघाटी के युद्ध और उदयसिंह पर जो टिप्पणियां की गई है वो इतिहास को दूषित करने का काम कर रही है। ये पुस्तकें लाखों लोगों की भावनाओं को भी आघात पहुंचा रहे हैं।

कटारिया ने कहा कि इन पुस्तकों को लिखने वाले देव कोठारी का भी मुझे पत्र प्राप्त हुआ है। इसे भी मैं सीएम को भेज रहा हूं। मैंने सीएम से विनम्र प्रार्थना की है कि हमारे ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर पेश करना हमारे इतिहास के प्रति न्याय नहीं है। जनता सड़कों पर आए इसे अच्छा है कि एक कमेटी बनाकर इसका मूल्यांकन करवाएं और इतिहास का ठीक प्रकार से लिखने का प्रयास करें। इसके लिए खुद सीएम को इन्वॉल्व होकर इन कमियों को दूर करें, ताकि अशांति को रोका जा सके।

आपको बता दें कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की पुस्तकों में इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश करने का विरोध हो रहा है। सांसद दीया कुमारी, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास सहित कई राजनेताओं और सामाजिक संगठनों ने इसका विरोध किया है। इससे पहले भी स्कूली पुस्तकों में इतिहास के छेड़छाड़ को लेकर विरोध हो चुका है।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned