इंफ्लेमेशन और जोड़ों में दर्द दूर करेगा तुलसी

तुलसी के बीज और पत्तियां बॉडी और माइंड के लिए बहुत अच्छा टॉनिक है। तुलसी मलेरिया, आई डिजीज, एक्जिमा आदि समस्या को दूर करने में लाभकारी है।

तनाव और एंजाइटी होगी दूर
तुंलसी मेंटल बैलेंस को प्रमोट करके एंजाइटी से राहत देती है। एक अध्ययन के अनुसार यदि नियमित ५०० मिलिग्राम तुलसी के एक्स्ट्रेट का प्रयोग किया जाए तो तनाव, डिप्रेशन और एंजाइटी से राहत पाई जा सकती है।
संक्रमण से बचाएगी तुलसी
तुलसी की पत्तियां बॉडी की स्टे्रंथ देने का काम करती है। दरअसल, तुलसी में एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल, एंटी फंगल एवं एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज भी होती है। हेल्थ एक्सपट्र्स के अनुसार तुलसी घाव भरने की भी प्रक्रिया को तेज करती है। यदि आप मुंह में अल्सर की समस्या से परेशान हैं तो तुलसी का सेवन करना लाभकारी होगा।
ब्लड शुगर रहेगा सही
टाइप-२ डायबिटीज के मरीजों के लिए तुलसी का सेवन करना लाभकारी होता है। कुछ प्रयोगशाला अध्ययनों से सामने आया कि यदि तुलसी के एक्स्ट्रेट का सेवन किया जाए तो ३० दिन में ब्लड शुगर को २४ फीसदी तक मैनेज किया जा सकता है।
कम होगा कोलेस्ट्रोल
वजन कम करने और बुरे कोलेस्ट्रोल को कम करने के लिए तुलसी का सेवन करना लाभकारी होगा। कुछ प्रयोगशाला अध्ययनों से सामने आया कि तुलसी बुरे कोलेस्ट्रोल का कम करके अच्छे कोलेस्ट्रोल के स्तर को बढ़ाने का काम करती है। एक एनीमल स्टडी से सामने आया कि तुलसी के सेवन से किडनी, लिवर और हार्ट में से कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम किया जा सकता है।

Archana Kumawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned