घर को बनाएं 'हैप्पी प्लेस'

जीवन में बेहतर स्वास्थ्य, वेतन और कॅरियर के अलावा घर में खुशनुमा माहौल होना भी जरूरी।

By: Kiran Kaur

Updated: 21 Nov 2020, 05:07 PM IST

जब आप जीवन को बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे होते हैं, तो घर एक ऐसा स्पेस होता है, जो कि सकारात्मकता देता है। लेकिन यदि घर अव्यवस्थित या गंदा है तो आपके भीतर तनाव या चिड़चिड़ापन हो सकता है। कुछ वर्ष पूर्व हुए एक अध्ययन में यह पाया गया कि स्वास्थ्य, वेतन और कॅरियर के अलावा घर का हैप्पी प्लेस होना किसी के भी जीवन में 15 फीसदी तक मायने रखता है। कुछ उपायों के जरिए आप घर को खुशहाल जगह बना सकते हैं।
खास खुशबू की ताकत को समझें: कई अध्ययनों में पाया गया है कि गंध का मनोवैज्ञानिक प्रभाव होता है इसलिए अपने घर में पॉजिटिविटी को बढ़ाने के लिए एसेंशियल ऑयल या खुशबूदार कैंडिल का प्रयोग करें। शोधकर्ताओं का मानना है कि लैवेंडर की खुशबू गहरी नींद लाने में सहायक है। लेमन ऑयल की खुशबू ताजगी देती है।
खुशनुमा यादों से घर का कोना सजाएं: जब भी पुरानी एल्बम को देखते हैं तो आपके चेहरे पर खुशी आ जाती है। कोई क्राफ्ट या पेंटिंग जो सालों पहले बनाई थी, उसकी एक झलक ही चेहरे मुस्कान ले आती है। ऐसे में जरूरी है कि इस तरह की यादों के साथ एक कोना सजाएं ताकि जब भी आप इस जगह पर बैठें तो पॉजिटिविटी मिले। दूसरी तरफ ऐसी चीजों को घर से हटा दें जिन्हें देखकर तनाव बढ़ता हो।
ग्रीनरी को बढ़ावा दें: घर के भीतर हरियाली को बढ़ाएं। पेड़-पौधे आशियाने में ग्रीन टेक्सचर एड करेंगे और सकारात्मकता बढ़ाएंगे। इंडोर ग्रीनरी घर के भीतर की हवा को शुद्ध रखती है और पॉजिटिविटी बढ़ाती है।
डस्टिंग रुटीन बनाएं: डस्टिंग और डीप क्लीनिंग सिर्फ त्योहार के समय का रुटीन न हो। इसे नियमित साफ-सफाई का हिस्सा बनाएं। चीजों या घर के कमरों में डस्टिंग को दिनों के अनुसार बांटा जा सकता है।
लाइट्स बदलें: घर में लगी लाइट्स का मूड पर असर पड़ता है। डाइनिंग एरिया में ऐसी लाइट्स लगाएं जो तेज रोशनी दें जबकि बालकनी में धीमी रोशनी अच्छी लगती है। रिलेक्स महसूस करने के लिए खुशबूदार कैंडिल जलाएं।
आपकी कलाकारी: घर में आपका टच नजर आना चाहिए जैसे पसंदीदा रंग ब्लू है तो सजावट में यह दिखे। कर्टेंस से लेकर कारपेट तक में यह रंग हो सकता है। पेंटिंग का शौक है तो दीवारों से लेकर गार्डन तक में यह नजर आए।
पॉजिटिव कॉर्नर : घर के किसी हिस्से में एक पॉजिटिव कॉर्नर बनाएं। यह ऐसी जगह हो जहां सुकून के साथ पेंटिंग, पढ़ाई, लेखन, मेडिटेशन कर सकें। नए विचारों के लिए भी यह आइडिया जोन हो सकता है।

Kiran Kaur Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned