scriptHowitzer M-777 thundering in Pokaran | Indian Army in Laddakh and Jaiselmer: पोकरण में गरज रही होविट्जर | Patrika News

Indian Army in Laddakh and Jaiselmer: पोकरण में गरज रही होविट्जर

भारत-पाक सीमा से सटे सरहदी जिले की पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज इन दिनों फिर सुर्खियों में है। एम-777 अल्ट्रा लाइट हॉविट्जर तोपों का परीक्षण चल रहा है। इस गन का निर्माण अमेरिका में निर्माण की गई है। वर्तमान में रेंज में छह ऐसी तोपों का परीक्षण चल रहा है। 155 एमएम की 39 केलिबर वाली इस तोप की मारक क्षमता 30 से 40 किमी है। रेंज में 40 किमी दूर दुश्मन के काल्पनिक ठिकानों को नैस्तनाबूद कर यह तोप परीक्षण में सफल रही है।

जयपुर

Published: May 27, 2022 10:42:43 pm

भारत-पाक सीमा से सटे सरहदी जिले की पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज इन दिनों फिर सुर्खियों में है। एम-777 अल्ट्रा लाइट हॉविट्जर तोपों का परीक्षण चल रहा है। इस गन का निर्माण अमेरिका में निर्माण की गई है। वर्तमान में रेंज में छह ऐसी तोपों का परीक्षण चल रहा है। 155 एमएम की 39 केलिबर वाली इस तोप की मारक क्षमता 30 से 40 किमी है। रेंज में 40 किमी दूर दुश्मन के काल्पनिक ठिकानों को नैस्तनाबूद कर यह तोप परीक्षण में सफल रही है।
Howitzer M-777.jpg
Howitzer M-777

गौरतलब है कि वर्ष 2017 में भारत ने अमेरिका से होविट्जर तोपों की खरीद की गई थी। मई 2017 में भारत को दो गन मिली थी। जिनका जून 2017 में पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में परीक्षण किया गया था। भारत ने अमेरिका को 145 गन खरीदने का ऑर्डर किया था, जिसमें से 125 गन प्राप्त हो चुकी है तथा 20 गन आना शेष है, जो इसी वर्ष प्राप्त हो जाएगी। इसके बाद महिन्द्र डिफेंस के साथ साझेदारी में भारत में ही होविट्जर गन तैयार की जाएगी।
पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में परीक्षण

  • 40 किमी तक लगाया निशाना
  • 39 केलिबर की है यह तोप
  • मात्र 4.4 टन टन है वजन
  • 155 एमएम की है तोप
दो मिनट में परिवहन
इस तोप को लेकर सबसे बड़ी बात यह है कि इसका परिवहन चिनूक हेलीकॉप्टर से भी किया जा सकता है। एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के दौरान मात्र दो मिनट में इसे समेटा जा सकता है तथा फॉल्डिंग करने के बाद यह परिवहन के लिए तैयार हो जाती है। निश्चित स्थान पर ले जाने के बाद फायरिंग के लिए यह तोप मात्र तीन मिनट का समय लेती हैै। हेलिकॉप्टर से भी परिवहन कर एक से दूसरे स्थान पर ले जाया जा सकता है। जम्मू कश्मीर के लेह लद्दाख व अरुणाचल प्रदेश के ऊंचे पहाड़ी क्षेत्रों में भी ले जाया जा सकता है।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिंदे खेमे में आ चुके हैं सरकार बनाने भर के विधायक! फिर क्यों बीजेपी नहीं खोल रही अपने पत्ते?Maharashtra Political Crisis: ‘मातोश्री’ में मंथन! सड़क पर शिवसैनिकों के उपद्रव का डर, हाई अलर्ट पर मुंबई समेत राज्य के सभी पुलिस थानेMaharashtra Political Crisis: 24 घंटे के अंदर ही अपने बयान से पलट गए एकनाथ शिंदे, बोले- हमारे संपर्क में नहीं है कोई नेशनल पार्टीBharat NCAP: कार में यात्रियों की सेफ़्टी को लेकर नितिन गडकरी ने कर दिया ये बड़ा काम, जानिए क्या होगा इससे फायदा2-3 जुलाई को हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, पास वालों को ही मिलेगी इंट्री, सुरक्षा के कड़े इंतजामMumbai News Live Updates: शिवसेना ने कल पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे उद्धव ठाकरेनीति आयोग के नए CEO होंगे परमेश्वरन अय्यर, 30 जून को अमिताभ कांत का खत्म हो रहा है कार्यकालCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.