हॉकर हत्या प्रकरण: थानाधिकारी को सस्पेंड व दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग


जयपुर के खोह नागोरियान में थाना क्षेत्र में गुरुवार सुबह अखबार बांटने वाले हॉकर की हत्या के बाद बवाल हो गया। गुस्साए लोगों ने थाने के बाहर काफी संख्या में इकट्‌ठा होकर जमकर नारेबाजी की और रोड पर जाम लगा दिया। इस दौरान पुलिस और आक्रोशित लोग आमने सामने हो गए। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया।

By: manish chaturvedi

Updated: 05 Sep 2019, 09:09 PM IST

जयपुर के खोह नागोरियान में थाना क्षेत्र में गुरुवार सुबह अखबार बांटने वाले हॉकर की हत्या के बाद बवाल हो गया। गुस्साए लोगों ने थाने के बाहर काफी संख्या में इकट्‌ठा होकर जमकर नारेबाजी की और रोड पर जाम लगा दिया। इस दौरान पुलिस और आक्रोशित लोग आमने सामने हो गए। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया। इससे गुस्साए लोगों ने जमकर पथराव कर दिया, जिससे कई गाड़ियों की शीशे टूट गए और एक बाइक में आग लगा दी। इसमें पूर्व विधायक कैलाश वर्मा घायल हो गए। घटना के सामने आने के बाद लूनियावास व उसके आस-पास के सभी व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद कर दिए। गोनेर रोड पर पुलिस फ्लैग मार्च कर रही है।

पूर्व विधायक कैलाश वर्मा खोह नागोरियान थाने पहुंचे। इस दौरान नेता और पुलिस की बातचीत हुई, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। लोगों ने थाने के बाहर धरना देने का प्रयास किया तो पुलिस ने बलपूर्वक प्रदर्शनकारियों को हटाने का प्रयास किया। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज किया तो गुस्साई भीड़ ने पथराव कर दिया। इसमें पूर्व विधायक कैलाश वर्मा सहित कुछ लोगों व पुलिसकर्मियों की चोटें आई हैं। जानकारी के अनुसार कैलाश वर्मा को एसएमएस अस्पताल ले जाया गया है।

लाठीचार्ज के दौरान पूर्व मंत्री कन्हैया लाल मीणा उस गाड़ी में थे। जिस गाड़ी में घायलावस्था में पूर्व विधायक कैलाश वर्मा को लोग अस्पताल लेकर जा रहे थे। इस दौरान पुलिस पूर्व मंत्री कन्हैयालाल मीणा को जबरन गाड़ी से उतारकर थाने में ले गई।

इसके बाद विधायक अशोक परनामी, सांसद रामचरण बोहरा व किरोड़ीलाल मीणा घटनास्थल पर पहुंचे। इन्होंने थानाधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। वहीं, मौके पर सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित लोग जमा है और विरोध प्रदर्शन कर रहे है।

बता दे..गुरूवार सुबह अखबार के पैसे मांगने पर हुए विवाद में हॉकर मुन्ना वैष्णव की कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी गई थी। हत्या के आरोपी रफीक को वहां मौजूद लोगों ने पकड़ लिया और उसकी धुनाई कर दी। बाद में पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी रफीक को अस्पताल में भर्ती कराया।

डीसीपी राहुल जैन ने बताया कि रफीक मानसिक रूप से विक्षिप्त है। उसके पास इसका सर्टिफिकेट भी है। उसका लम्बे समय से उपचार चल रहा है। आरोपी की हरकतों से परेशान होकर उसकी पत्नी भी रात को घर छोड़कर दूसरे स्थान पर चली गई। सुबह अखबार लेकर पहुंचे हॉकर पर उसने कुल्हाड़ी से वार कर दिया। इससे उसकी मौत हो गई। डीसीपी जैन ने अपील है कि इस मामले को लेकर किसी प्रकार का धार्मिक उन्माद न फैलाए। सोशल मीडिया पर इस मामले को लेकर कई अफवाहें चल रही है जो कि सहीं नहीं है। आमजन को पूर्व की घटनाओं से सबक लेकर इन प्रकार की अफवाहों से दूर रहना चाहिए।

manish chaturvedi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned