वन्यजीवों पर शिकारियों की नजर,मुकंदरा ​सहित वन क्षेत्रों में ​रहेगी विशेष नजर

वन क्षेत्रों संदिग्ध दिखने पर तुरंत होगी कार्रवाई



जयपुर
वन क्षेत्रों में शिकारियों की नजर वन्यजीवों पर हैं। यही कारण है कि प्रदेश के अलग अलग वन रिजर्व क्षेत्र से इन दिनों शिकारियों के वन्यजीवों के शिकार करने की खबर आ रही हैं। इसी को लेकर वन विभाग भी अलर्ट हो गया हैं। मुकंदरा सहित अन्य रिजर्व क्षेत्रों में वन विभाग ने शिकार सहित अन्य अवैध गतिविधियां रोकने के लिए अलर्ट जारी किया हैं। जिसके तहत अब रिजर्व और वन्यजीव क्षेत्रों में किसी भी संदिग्ध के दिखाई देने पर अब तुरंत कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं वन क्षेत्रों में चौकसी बढ़ाने के लिए निर्देश दिए गए हैं। जिसमें फॉरेस्ट गार्ड सहित अन्य कर्मचारियों को वन क्षेत्रों में मॉनिटरिंग और पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं। हाल ही में लगातार कई मामले ऐसे आए है जिसमें वन्यजीव शिकारियों के फंदे में फंसते नजर आए हैं।
मुकंदरा में पकड़े शिकारी
मुकंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व क्षेत्र में गत दिनों शिकारी पकड़ में आए थे। जहां पर वन विभाग और पुलिस ने कार्रवाई करते हुए रिजर्व क्षेत्र से पाटागोह के साथ शिकारियों को पकड़ा था। जिसके बाद इनसे तीन जिंदा पाटागोह बरामद किए थे।
पैंथर फंसा फंदे में
वहीं हाल ही में अजमेर के पदमपुरा गांव में शिकारियों की ओर से लगाए गए फंदे में पैंथर फंस गया था। लेकिन शिकारी इसका शिकार नहीं कर सकें। ऐसे में वन विभाग की टीम ने इसे रेस्क्यू कर वापस जंगल में छोड़ दिया।
पकड़े गए सांभर के शिकारी
वहीं बूंदी के रामगढ़ सेंचुरी क्षेत्र में वन विभाग ने सांभर के शिकारियों की पकड़ कर उनसे सांभर का मांस बरामद किया था।
मोर के शिकारी भी सक्रिय
लगातार इन दिनों मोर के शिकारी भी सक्रिय हैं। प्रदेश में इन दिनों अलग अलग जिलों से मोर को मारे जाने की खबरें सामने आ रही हैं। जयपुर के आमेर वन क्षेत्र कार्यालय के अधीन दौलतपुरा वन नाका के सेवापुरा हरमाड़ा में सोमवार को ही कार्रवाई करते हुए एक शिकारी को पकड़ा था जिसके पास से 3 मृत मोर बरामद किए गए थे। इससे पहले यही पर 2 जनवरी को वन विभाग की टीम ने कूकस के कचराला गांव में मोर का शिकार करते 2 लोगों को गिरफ्तार कर मृत मोर ओर तीतर बरामद किए थे। वहीं टोंक में शिकार की तलाश में आए पांच लोगों को पुलिस ने पकड़ा था।
टाइगर रिजर्व से पकड़े गए बंदूकधारी शिकारी
वहीं सरिस्का व सवाई माधोपुर के टाइगर रिजर्व क्षेत्र में भी वन विभाग ने बंदूकधारी शिकारियों को पकड़ा था। रिजर्व क्षेत्र में यह शिकारी ट्रेप कैमरे में कैद हो गए थे जिसके बाद पुलिस के साथ मिलकर कार्रवाई करते हुए वन विभाग ने सर्च अभियान चलाते हुए पांच शिकारियों को पकड़ा था।

HIMANSHU SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned