खुद को शुतुरमुर्ग की तरह मानती है यह टीवी क्वीन

मनोरंजन इंडस्ट्री के विभिन्न प्लेटफॉर्म पर सक्रिय एकता कपूर ने बयां किए अपने जज्जात

By: Aryan Sharma

Published: 16 May 2018, 05:25 PM IST

जयपुर . निर्माता के रूप में एकता कपूर ने विभिन्न प्लेटफॉर्म पर रिप्रजेंट किया है। एकता को टीवी पर टीआरपी रानी के रूप में पहचाना जाता है और जब से उन्होंने इंडस्ट्री में प्रवेश किया है, तब से डेली सोप्स को एक पहचान मिल गई है। टीवी पर अपना दबदबा बनाने के बाद एकता बड़े पर्दे पर कंटेंट से प्रेरित फिल्मों के साथ दर्शकों का दिल जीत रही हैं। वह डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी विशेष कंटेंट के साथ ऑनलाइन दर्शकों का खूब मनोरंजन कर रही हैं। अपनी आने वाली फिल्म 'वीरे दी वेडिंग' में व्यस्त एकता अपने विचार साझा करते हुए कहती हैं, 'मैं शुतुरमुर्ग की तरह हूं। मैं अपना काम दर्शकों तक पहुंचाने के बाद खुद को बंद कर लेती हूं, क्योंकि मुझे पता है कि लोग मेरे बारे में बहुत सी चीजें कहेंगे। अब हम फिल्म 'वीरे दी वेडिंग' की रिलीज की तरफ बढ़ रहे हैं, इसलिए प्रोमो, गाने और नए विजुअल्स दर्शकों के बीच पेश कर रहे हैं।'
नए प्रोजेक्ट की शुरुआत करने पर पिछले के बारे में नहीं सोचती
दर्शकों की अपेक्षाओं के बारे में एकता खुलासा करती हैं कि उन्हें कुछ भी बोझ नहीं लगता है। वह कहती हैं, 'दरअसल, मुझे ऐसा इसलिए नहीं लगता, क्योंकि मेरा मानना है कि आप सफलता और विफलता से साथ ज्यादा बंधे हुए नहीं रह सकते। असल में, मेरा बोझ बहुत अलग हैं। उदाहरण के तौर पर, मेरी गर्दन में बहुत दर्द है, इसलिए मुझे चिंता है कि कुछ हुआ तो नहीं मुझे। मैंने अपनी विफलताओं से सीखा है और मैं सफलता से मोहित नहीं होती हूं। 'वीरे दी वेडिंग' के बाद मैं कंगना रनौतराजकुमार राव के साथ 'मेन्टल है क्या' पर काम शुरू करूंगी। जब मैं एक नए प्रोजेक्ट की शुरुआत करती हूं, तो पिछले के बारे में नहीं सोचती।' मनोरंजन दुनिया में रूढ़िवाद को तोड़कर आगे बढ़ते हुए एकता ने दर्शकों के लिए नया कंटेंट तैयार कर खुद के लिए एक जगह बना ली है।
खुद को सीमित क्यों करें
अपनी शर्तों पर जीने वाली एकता का कहना है, 'खुद को सीमित क्यों करें। किसी भी समय अगर हमें लगता है कि ये चलेगा नहीं, तो ऐसा लगता है कि हम उन नियमों को सुन रहे हैं जो इंडस्ट्री के पूर्वजों ने हमारे लिए सेट किए हैं। हर दिन हम फ्रेश कंटेंट से रूबरू होते हैं, विभिन्न माध्यमों में काम करते हैं और अधिक विकसित होते हैं। हम हर दिन अधिक बुद्धिमान बन रहे हैं और विकसित हो रहे हैं और इसी तरह दुनिया भी विकास कर रही है, तो पुराने नियमों का पालन क्यों करें? कभी-कभी मुझे लगता है कि मैं बहुत कुछ एक साथ कर रही हूं। लेकिन मुझे अपना काम पसंद है। मुझे केवल तभी तनाव होता है जब मुझे पार्टियों में जाना पड़ता है या फिर इंटरव्यू के लिए बैठना पड़ता है। जब मैं क्रिएटिव काम करती हूं तो मैं सबसे अधिक खुश होती हूं। मेरा काम ही मेरी पार्टी है। मुझे तीन अलग-अलग माध्यमों पर तीन अलग-अलग रचनाकारों का जीवन जीने का मौका मिल रहा है। टीवी की दुनिया पारिवारिक दर्शकों के बारे में है और मैं 'वीरे दी वेडिंग' के साथ भी व्यस्त हूं, जो दो अलग-अलग दुनिया हैं। फिर मैं फ़िल्म 'मेन्टल है क्या' के साथ कुछ बिल्कुल अलग करने जा रही हूं। इसके अलावा 'गंदी बात' वेब सीरीज भी है। मल्टीटास्किंग आपके ऊपर हावी हो सकती है। लेकिन मुझे लगता है कि मैं एक मजेदार काम कर रही हूं और मुझे इसका आभारी होना चाहिए।'

 

Aryan Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned