scriptIAS Nannumal Paharia changed the mountain of excavation | IAS नन्नूमल पहाड़िया ने बदल दिया खुदाई का पहाड़ | Patrika News

IAS नन्नूमल पहाड़िया ने बदल दिया खुदाई का पहाड़

रसूख के आगे सरकार के नियम भी बौने पड़ जाते हैं। पूर्व जिला कलक्टर नन्नूमल पहाड़िया ने करीब दो महीने पहले अपने तबादले से पूर्व गैर मुमकिन पहाड़ का रसूखदार के नाम एक्सचेंज कर दिया। मामला थानागाजी तहसील के गुवाडा भूरियावाला का है। यहां पूर्व कलक्टर पहाड़िया ने 11 अप्रेल 2022 को आदेश जारी कर ग्राम गुवाडा भूरियावाली पर नियम विरुद्ध गैर मुमकिन पहाड़ के एक्सचेंज को स्वीकृति प्रदान की।

जयपुर

Published: June 18, 2022 11:12:05 pm

रसूख के आगे सरकार के नियम भी बौने पड़ जाते हैं। पूर्व जिला कलक्टर नन्नूमल पहाड़िया ने करीब दो महीने पहले अपने तबादले से पूर्व गैर मुमकिन पहाड़ का रसूखदार के नाम एक्सचेंज कर दिया। मामला थानागाजी तहसील के गुवाडा भूरियावाला का है। यहां पूर्व कलक्टर पहाड़िया ने 11 अप्रेल 2022 को आदेश जारी कर ग्राम गुवाडा भूरियावाली पर नियम विरुद्ध गैर मुमकिन पहाड़ के एक्सचेंज को स्वीकृति प्रदान की।

rajasthan-acb.jpg

राज्य सरकार का नियम है कि गैर मुमकिन पहाड़, रास्ते, नाले आदि का आवंटन नहीं किया जा सकता। यदि गलती से ऐसा कोई आवंटन हो भी जाए तो उसे निरस्त करने या फिर कलक्टर को रेफरेंस बनाकर प्रकरण को निरस्ती के लिए राजस्व मंडल को भेजने की कार्रवाई करनी चाहिए। लेकिन इस प्रकरण में गैर मुमकिन पहाड़ के बदले गैर मुमकिन पहाड़ एक्सचेंज कर दिया।

पूर्व आरएएस अधिकारी के रिश्तेदार हैं आवेदक
चर्चा है कि पूर्व जिला कलक्टर पहाड़िया की ओर से गैर मुमकिन पहाड़ का एक्सचेंज करने के लाभाथी अलवर में पूर्व में कार्यरत रही एक आरएएस अधिकारी के रिश्तेदार हैं। पूर्व जिला कलक्टर पहाड़िया ने अपने कार्यकाल के अंतिम दौर में यह आदेश जारी किए।

1978 में भी आवंटन गलत था
राजस्व नियमों के तहत 1978 में गैर मुमकिन पहाड़ का आवंटन गलत था और अब गैर मुमकिन पहाड़ के एक्सचेंज का निर्णय भी सही नहीं है। कारण है कि जिला कलक्टर को गैर मुमकिन पहाड़ के एक्सचेंज का अधिकार नहीं है। केवल राज्य सरकार ही सार्वजनिक हित में ऐसा कोई निर्णय करने के लिए सक्षम है।

थानागाजी के ग्राम गुवाड़ा भूरियावाला का मामला

सुरेश मीना ने कलक्टर को प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर आराजी खसरा नं. 92 रकबा 2.02 हैक्टेयर किस्म बारानी तृतीय गैर मुमकिन पहाड़ को स्वयं की क्रय शुदा खातेदारी भूमि बताते हुए वर्तमान कब्जे वाले आराजी खसरा नम्बर 93/406 रकबा 35.51 हैक्टेयर किस्म गैर मुमकिन पहाड़ में से 2.02 हेक्टेयर क्षेत्र ग्राम गुवाडा भूरियावाली से तबादला करने की मांग की थी। इस प्रकरण में थानागाजी उपखंड एवं तहसीलदार की रिपोर्ट भी ली गई। इसमें आवंटित को गैर मुमकिन पहाड़ का आंवटन किया गया और जिसका भी बेचान आवंटी ने दूसरे व्यक्ति को कर दिया, वर्तमान क्रेता सुरेश ने यह भूमि द्वितीय क्रेता से खरीदी है। इस कारण खरीदी हुई भूमि का एक्सचेंज कराने का कोई अधिकार नहीं होता है।

प्रशासन में हड़कम्प

प्रशासन के संज्ञान में प्रकरण आते ही हड़कम्प मच गया। प्रशासन के उच्च अधिकारियों ने इस प्रकरण के संज्ञान में आते ही पूर्व कलक्टर के कार्यकाल के दौरान निर्णयों की पुन: पड़ताल करने तथा सभी एसडीओ व तहसीलदारों को ऐसे प्रकरणों को अमल में नहीं लाने की कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।

संज्ञान में आने के बाद मामले की जानकारी कराएंगे। अभी तक मेरे पास यह मामला नहीं आया।

शिवप्रसाद नकाते, जिला कलक्टर, अलवर

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Azamgarh Rampur By Election Result : रामपुर में सपा को बढ़त तो आजमगढ़ में 'निरहुआ' ने बड़ा उलटफेर करते हुए धर्मेद्र यादव को पछाड़ाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र का सियासी संकट जल्द खत्म होने के आसार कम! सदस्यता को लेकर बागी विधायक कर सकते है कोर्ट का रुखबिहार ड्रग इंस्पेक्टर के घर पर छापेमारी, 4 करोड़ कैश और 38 लाख के गहने बरामदअश्विन और कोहली के बाद अब कप्तान रोहित शर्मा हुए कोविड पॉज़िटिव, नहीं खेलेंगे पहला टेस्टमेरे पास ममता बनर्जी को मनाने की ताकत नहीं: अमित शाहMumbai News Live Updates: बागी विधायकों पर संजय राउत ने साधा निशाना, बोले-बालासाहेब के नाम का इस्तेमाल न करेंMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने बागी विधायकों पर फिर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बड़ी बातMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.