संयुक्त अभिभावक संघ ने बोला सरकार पर हमला


कहा,अभिभावक सड़क पर आता है तो सरकार धारा 144 लागू कर देती है

By: Rakhi Hajela

Updated: 21 Nov 2020, 07:16 PM IST


संयुक्त अभिभावक संघ ने शनिवार को एक बार फिर राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि जब जब अभिभावक सड़कों पर उतने की योजना को अमल में लाते हैं तब तब राज्य सरकार अभिभावकों को डराने के लिए राज्य में धारा 144 लागू कर देती है। संघ के प्रवक्ता अभिषेक जैन बिट्टू और उपाध्यक्ष मनोज शर्मा ने कहा कि गत दिनों नगर निगम चुनाव हुए तब सरकार को कोरोना नजर नहीं आया, निजी स्कूल संचालकों ने धरना, प्रदर्शन किए तब सरकार को कोरोना नजर नहीं आया जैसे ही संयुक्त अभिभावक संघ ने मुख्यमंत्री के नाम जिलाधीश, शिक्षा मंत्री और प्रिंसिपल सेकेट्री शिक्षा विभाग राजस्थान को अल्टीमेटम के साथ ज्ञापन दिया तो शाम होते होते राज्य सरकार ने प्रदेश में धारा 144 के आदेश जारी दिए। जब राज्य सरकार को अभिभावकों के आंदोलन से इतनी ही पीड़ा है तो क्यो ंअभिभावकों की मांगों को दरकिनार किया जा रहा है। अभिभावक स्वयं भी नहीं चाहते हैं कि वह अपनी जान को जोखिम में डालकर सड़कों पर उतरे किन्तु चुप रहने से न्याय नहीं मिलता देख अभिभावक सरकार के समक्ष अपनी उपस्थिति दर्ज करवाना चाहता है और सरकार को बताना चाहते हैं कि अभी हम जिंदा हैं लेकिन नीतियों और प्रताड़ना से परेशान चल रहे हैं। संगठन मंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि एक तरफ राज्य सरकार कोरोना से बचाव के लिए सतर्कता बरतने ज्यादा से ज्यादा घरों में रहने के आदेश दे रही है ऐसी स्थिति में अगर अभिभावक घर पर बैठ गए तो उनके घरों का चूल्हा कैसे जलेगा कौन उनके घरों का चूल्हा जलाएगा। जब अभिभावकों को घर पर बैठकर सरकार के आदेशों और इंसानियत को स्वीकार करने के बावजूद जिल्लत की जिंदगी जीनी है और प्रताड़ना झेलकर मरना है उससे बढ़िया है वह अपने हक के लिए सड़कों पर उतरे और कोरोना की मौत मर जाए वो ज्यादा फायदेमंद है। कम से कम देश को सरकार और निजी स्कूल संचालकों की हठधर्मिता का परिचय तो प्राप्त होगा।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned