बोनस घोषणा नहीं तो रेलकर्मी उठाएंगे ये कदम

भारत सरकार ( Government of India ) ने रेलकर्मचारियों को प्रतिवर्ष दुर्गापूजा ( Durga Puja ) से पूर्व भुगतान किए जाने वाले बोनस ( bonus to railway employees ) की अभी तक घोषणा नहीं की है...

By: Ashish

Published: 18 Oct 2020, 05:33 PM IST

जयपुर
भारत सरकार ( Government of India ) ने रेलकर्मचारियों को प्रतिवर्ष दुर्गापूजा ( Durga Puja ) से पूर्व भुगतान किए जाने वाले बोनस ( bonus to railway employees ) की अभी तक घोषणा नहीं की है, जबकि रेल मंत्रालय द्वारा 78 दिनों के बोनस भुगतान का प्रस्ताव वित्त मंत्रालय को कई दिनों पूर्व भेजा जा चुका है। ऑल इंडिया रेलवे मैंस फेडरेशन की स्टैंडिंग कमेटी की मीटिंग में यह फैसला लिया गया है कि यदि 21 अक्टूबर तक केंद्र सरकार ने बोनस भुगतान के संबंध में फैसला नहीं लिया तो रेलकर्मचारी सीधी कार्यवाही करेंगे, जिसकी जिम्मेदारी केन्द्र सरकार की होगी।

नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एंप्लाइज यूनियन के महामंत्री मुकेश माथुर ने बताया कि वर्ष 2019-20 में रेल कर्मचारियों द्वारा कड़ी मेहनत के फलस्वरूप भारतीय रेल लाभ में रही है। लगभग दो लाख रिक्तियाँ होने के बावजूद रिकॉर्ड माल ढुलाई भारतीय रेल ने की है। ऐसे में इस अवधि का “उत्पादकता आधारित बोनस” रेलकर्मचारियों का अधिकार है और केंद्र सरकार को शीघ्र मंजूरी देनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि उत्तर पश्चिम रेलवे पर 19 से 21 अक्टूबर के मध्य विभिन्न स्टेशन/यूनिट पर प्रदर्शन सभा रैली के माध्यम से रेलकर्मी रोष प्रदर्शित करके केंद्र सरकार को चेताएंगे। यदि 21 अक्टूबर तक केंद्र सरकार ने निर्णय नहीं किया तो रेल कर्मचारी सीधी कार्यवाही करने पर मजबूर होंगे। रेलकर्मचारियों ने कॉविड-19 की परिस्थिति एवं लॉकडाउन अवधि में भी घर से बाहर निकलकर काम किया है। यह रेल कर्मियों की मेहनत का ही प्रतिफल है कि देश के आमजन तक खाद्यान्न एवं आम जरूरत की चीजें लॉकडाउन अवधि में पहुंची। केंद्र सरकार इस योगदान को नहीं भुला सकती।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned