मोदी—वसुंधरा राज में कभी पेट्रोल तोड़ रहा रिकॉर्ड, तो कभी डीजल, जनता क्या करे

मोदी—वसुंधरा राज में कभी पेट्रोल तोड़ रहा रिकॉर्ड, तो कभी डीजल, जनता क्या करे

Pawan kumar | Publish: Sep, 03 2018 12:30:09 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

— फिर महंगे पेट्रोल—डीजल: जयपुर में पहली बार पेट्रोल हुआ 82 पार
— आज पेट्रोल 32 पैसे और डीजल 41 पैसे महंगा

जयपुर। पेट्रोल—डीजल की कीमतें बढ़ने का दौर आज भी जारी रहा। जयपुर में आज पेट्रोल रिकॉर्ड 82 रूपए प्रति लीटर के स्तर को पार कर गया। आज जयपुर में पेट्रोल की कीमत 32 पैसे प्रति लीटर बढ़कर 82.04 रूपए तक पहुंच गई हैं। तो आज डीजल 41 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ है। आज डीजल के भाव 75.79 रूपए प्रति लीटर हो गए हैं।
गौरतलब है कि पेट्रोल और डीजल के भाव बढ़ने का सिलसिला सप्ताहभर से लगातार जारी है। बीते सप्ताहभर में पेट्रोल और डीजल दोनों में ही प्रति लीटर 2 रूपए से ज्यादा की बढ़ोतरी हो चुकी है।

रूपए में गिरावट की मार तेल पर
अंतर्राष्ट्रीय बाजार में डॉलर के मुकाबले रूपए में गिरावट बनी हुई है। आज भी एक डॉलर की कीमत 70.80 पैसे के स्तर पर बनी हुई है। हालांकि आज शुरूआती कारोबार में रूपया शनिवार के मुकाबले थोड़ा सुधरा है। शनिवार को रूपया एक डॉलर के मुकाबले 70.99 पैसे के स्तर पर पहुंच गया था। आज शुरूआती कारोबार में रूपया 70.80 रूपए प्रति डॉलर के स्तर पर था। बाजार के जानकारों का कहना है कि रूपया अभी और गिर सकता है। रूपया डॉलर के मुकाबले 72 रूपए के स्तर तक गिर सकता है। वहीं, रूपए के गिरावट से पेट्रोल—डीजल के भाव में तेजी जारी है। यदि रूपया और गिरा तो जयपुर में पेट्रोल 85 रूपए प्रति लीटर के स्तर तक पहुंच सकता है और डीजल 78 से 80 रूपए प्रति लीटर तक।


2018 में 2014 के मुकाबले सस्ता है कच्चा तेल, फिर भी पेट्रोल—डीजल महंगे
2014 में जब भारत कच्चा तेल 6,408 रूपए प्रति बैरल के स्तर पर था, उस समय पेट्रोल 71.41 रूपए प्रति लीटर और डीजल 56.71 रूपए प्रति लीटर मिल रहा था। आज भारत में कच्चे तेल की कीमत लगभग 4,900 रूपए प्रति बैरल है, तो पेट्रोल 82.02 रूपए और डीजल 74.79 रूपए प्रति लीटर मिल रहा है। 2014 के मुकाबले अब कच्चे तेल की कीमतें 25 फीसदी तक कम हो गई हैं। इसके बावजूद पेट्रोल 10.61 रूपए और डीजल 18.08 रूपए प्रति लीटर महंगा हो गया है। असल में पेट्रोल—डीजल की कीमतें बढ़ने का कारण है कच्चे तेल पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी। जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड सस्ता हो रहा था, तब सरकार ने नवम्बर 2014 से जनवरी 2016 तक उत्पाद शुल्क में 9 बार बढ़ोतरी कर दी। मौजूदा वक्त में केन्द्र और राज्य सरकार पेट्रोल पर ग्राहकों से 39 रूपए 31 पैसे और डीजल पर 27 रूपए 79 पैसे टैक्स वसूल रही है। यदि सरकारें उत्पाद शुल्क में कमी कर दें, तो पेट्रोल—डीजल सस्ता हो सकता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned