कोरोना काल में पतंगों के कारोबार ने अब तक नहीं पकड़ी 'उड़ान'

मकर संक्रांति का पर्व 14 को, 50 फीसदी कम हुई ग्राहकी

By: SAVITA VYAS

Published: 11 Jan 2021, 01:12 PM IST

जयपुर। मकर संक्रांति का पर्व नजदीक है। दान-पुण्य और पतंगबाजी का पर्व विभिन्न योग में गुरुवार को मनाया जाएगा। कोरोना के चलते प्रदेश की सबसे बड़ी पतंग मंडी हाड़ीपुरा में इस साल 50 फीसदी कम ग्राहकी हुई है। बच्चों को छोटा भीम, छोटू-मोटू, मोटू-पतलु व पोकीमोन की पतंगे लुभा रही है। वहीं पीएम नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पतंगे ग्राहकों को आकर्षित कर रही है। शहरवासी बिना डीजे के दिनभर रंग-बिरंगी पतंगों के साथ पेंच लड़ाएंगे। वहीं शाम को आतिशबाजी के साथ लालटेन वाली पतंगे उड़ाई जाएगी। मेहमानों को फीणी, पकौड़ी व तिल के लड्डू सहित अन्य पकवान खिलाए जाएंगे।

आय का जरिया बना पतंग कारोबार

वहीं राजधानी जयपुर में पतंगबाजी के पर्व पर भी साम्प्रदायिक सौहार्द की झलक देखने को मिलती है। यहां एक नहीं कई मुस्लिम परिवार पीढिय़ों से पतंग व्यवसाय से जुड़े हुए हैं। विरासत में मिला पतंग बनाने का उत्साह परिवार के युवा से लेकर बुजुर्ग सदस्यों में देखते ही बन रहा है। यही काम परिवार की आय का जरिया है।

दस करोड़ से अधिक कारोबार होने की उम्मीद

जयपुर पतंग उद्योग विक्रेता संघ के उपाध्यक्ष इरफान अहमद ने बताया कि धीरक-धीरे बाजार में ग्राहकों की रौनक बढ़ेगी। संक्रांति तक पतंग और मांझे व फीणी और तिल के पकवानों का कारोबार 15 करोड़ से ज्यादा होने की उम्मीद है। राजधानी जयपुर से बीकानेर, जोधपुर, कोटा, टोंक, सवाईमाधोपुर जिलों में पतंगे भेजते हैं। कीमत 1 रुपए से लेकर 20 रुपए तक है। हांडीपुरा, सड़वा, झोटवाड़ा, शास्त्रीनगर कर्बला सहित दर्जनभर जगहों पर पतंगे तैयार की जा रही है। इस साल कीमतों की बात करें पतंगों में 10 प्रतिशत और मांझे में 20 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है।

45 साल से बना रहे पतंग
जयपुर के सबसे पुराने पतंग कारीगर हांडीपुरा निवासी अब्दुल गफ्फूर अंसारी बीते 45 साल से पतंग बना रहे हैं। अब्दुल ने बताया कि परिवार के 50 लोग भी दस साल से पतंग बनाने का कार्य कर रहे हैं। इस बार कोरोना के चलते व्यापार पूरी तरह से प्रभावित हुआ है। इस बार भी अब्दुल ने अपनी पतंगों में अलग-अलग चर्चित किरदारों को तवज्जो देकर विशेष छह फीट तक की पतंगे तैयार की है। वर्ष 2019 में देश में सबसे ज्यादा चर्चा में रहे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट की पतंगे तैयार की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अभिताभ बच्चन से लेकर मुंबई के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, असदउद्दीन ओवैसी, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, जयपुर नगर निगम हैरिटेज महापौर मुनेश गुर्जर सहित अन्य राजनीतिक और फिल्मी हस्तियों की पतंगे अब्दुल ने तैयार की है। इनकी कीमत 1000 रुपए से शुरू है। कारीगर मो. इरफान ने बताया कि पतंग का कारोबार अब धीरे-धीरे डिजाइनिंग की ओर बढ़ रहा है।

SAVITA VYAS Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned