कोरोना काल में शादियों से फूलों की कीमतों में उछाल

गुलाब के अलावा टाटा रोज, रजनीगंधा के फूलों की सबसे ज्यादा मांग

By: SAVITA VYAS

Published: 25 Nov 2020, 07:04 PM IST

जयपुर। कोरोना काल में इस साल शादी के लिए 7 शुभ मुहूर्त है। इसकी शुरुआत आज कार्तिक शुक्ल एकादशी यानि देवउठनी एकादशी बुधवार से हो गई है। इसके अलावा नवंबर में 27 और 30 नवंबर और दिसंबर में 1,7, 9 और 10 दिसंबर के अंतिम शुभ मुहूर्त होने के बाद फि र से रोक लग जाएगी। इसके बाद यह रोक 12 अप्रैल 2021 को हटेगी। ऐसा ग्रहों के अस्त होने व खरमास होने के कारण होगा। इधर, शादियों के मद्देनजर लंबे समय बाद फू लों के दाम में रेकॉर्ड बढ़ोतरी भी देखने को मिल रही है। सजावटी फूलों से लेकर गुलाब आदि के फ ूलों के दामों की कीमत तीन गुना होने से फूल कारोबारियों के चेहरे भी खिल उठे हैं। शादी समारोह भी एक दम अलग अंदाज में होगा। न ज्यादा मेहमानों की रौनक देखने को मिलेगी और न ही कोई धूमधाम। सभी विवाह सादगी से होंगे। 100 मेहमानों की अनुमति ही इस बार मेहमानों की प्रशासन ने दी है। जिला प्रशासन जयपुर और पुलिस प्रशासन भी विशेष तैयारियों के साथ इस बार विवाह समारोहों पर नजर रखेंगे। इसके साथ ही जिला प्रशासन ने आमजन से शादी समारोह में सीमित संख्या में जाने, मास्क लगाने व तुरन्त कार्यक्रम से जल्दी आने की अपील की है।

मेहमानों की संख्या पर रखेंगे नजर

राजस्थान टैंट डीलर्स किराया व्यवसाय समिति के अध्यक्ष रवि जिंदल ने बताया किए 850 से ज्यादा मैरिज गार्डन, रिसोर्ट व सामुदायिक केंद्र बुक हो चुके हैं। जयपुर में 4500 से ज्यादा शादियां होगी। 100 से अधिक गार्डनों में एक गार्डन में दो शादियां भी होंगी। मास्क लगाने, थर्मल स्क्रीनिंग व सैनेटाइजेशन करने के बाद मेहमानों को प्रवेश दिया जाएगा। सभी गार्डन संचालक अलग से सभी जगहों पर मेहमानों की संख्या पर नजर रखेंगे। जयपुर विवाह स्थल समिति के अध्यक्ष भवानीशंकर माली ने बताया कि सभी गार्डन संचालकों से कोरोना के दिशा-निर्देशों की सख्ती से पालना की अपील की गई है। यदि कोई नियमों का उल्लंघन करता है तो इसकी जिम्मेदारी स्वयं की होगी।

60 लाख रुपए का फू लों का कारोबार
फ ूल मंडी के अध्यक्ष छुट्टन लाल सैनी ने बताया कि कोरोना के कारण पहले मंदिर आदि बंद थे। शादी समारोह भी नहीं हुए। लंबे समय बाद चांदी की टकसाल कंवरनगर मंडी सहित छोटीचौपड़, सोडाला सर्किल, बड़ी चौपड़ पर ग्राहकों की रौनक लौटी है। गुलाब, मोगरा, नौरंगा और कई देशी और विदेशी फ ूलों से सुगंधित मंडी में लगभग 60 लाख रुपए से अधिक का फूल का बाजार आज हुआ है। जयपुर के इस बाजार में फ ूल महाराष्ट्र, हिमाचल, हरियाणा, दिल्ली, पुणे, बैंगलोर और अन्य स्थानों से आते हैं। ऑर्किड जैसे फ ूल विदेशों से मंगवाए हैं। गुलाब के फू लों के दाम 225 रुपए किलो रहे। आमतौर पर यह 40 से 50 रुपए किलो थे। वहीं कुंज 600 रुपए किलो, रजनीगंधा 100 रुपए किलो, गुलदाउदी 300 रुपए किलो, गेंदा 60 रुपए किलो व ग्रेड 250 रुपए प्रति बंडल बिका।

इंग्लिश रोज भी महंगा

सजावट से लेकर वरमाला में काम में लिया जाने वाले इंग्लिश रोज यानि टाटा रोज की कीमत भी आसमान पर रही। इंग्लिश रोज के 2 हजार बंडल कंवर नगर मंडी में बिके। 150 से सीधा 350 रुपए प्रति बंडल इंग्लिश रोज की कीमत रही।

SAVITA VYAS Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned