सबसे बड़ी आयकर कार्रवाई: सीक्रेट कोड में छुपा बेनामी लेनदेन, पौने 2000 करोड़ तक पहुंच सकती है अघोषित सम्पत्ति

Rajasthan में 3 कारोबारी समूहों पर चल रही अब तक की सबसे बड़ी आयकर कार्रवाई शुक्रवार को चौथे दिन भी जारी रही।

By: santosh

Updated: 23 Jan 2021, 11:01 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
जयपुर। राज्य में 3 कारोबारी समूहों पर चल रही अब तक की सबसे बड़ी आयकर कार्रवाई शुक्रवार को चौथे दिन भी जारी रही। हालांकि आधे से ज्यादा ठिकानों पर कार्रवाई पूरी हो चुकी है लेकिन ज्वैलर व हैंडीक्राफ्ट समूह के आवास और कारखानों पर कार्रवाई अब भी जारी है। आयकर अधिकारी शुक्रवार रात 10 बजे तक इस ज्वैलर समूह के जय क्लब, सी-स्कीम के सामने स्थित आवास और कारखाने पर डेरा डाले हुए थे।

आयकर विभाग की टीम विशेषज्ञों के साथ जिस तरह जुटी है, उससे माना जा रहा है कि इन तीनों समूहों के यहां अघोषित लेनदेन का मामला पौने दो हजार करोड़ तक पहुंच सकता है। चार दिन से विभाग की 40 टीमों के तहत 200 अधिकारी-कर्मचारी काला धन निकालने में जुटे हैं। 19 जनवरी को तड़के 4 बजे शुरू हुई इस कार्रवाई में अब तक 1400 करोड़ की अघोषित संपत्ति का खुलासा हो चुका है।

ज्वैलर के घर स्थित गुफा में मिले दस्तावेजों में अल्फा-न्यूमेरिक सीक्रेट कोड के भारी पैमाने पर दस्तावेज मिल रहे हैं। इन सीक्रेट कोड में ही कारोबारी के प्रत्येक आइटम की वास्तविक बिक्री की कीमत छुपी हुई है। आयकर विभाग की टीमें इन सीक्रेट कोड्स को डी-कोड करने में जुटी हुई हैं। इन ज्वैलर्स के यहां मिली सुरंग में एंटीक सामान, ज्वैलरी, स्टॉक के अलावा बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज मिले थे। ऐसे में इनके शोरूम व घर पर सामान के वैल्यूएशन और विशेषज्ञों की पड़ताल देर रात तक जारी रही। समूह के ठिकानों से मिले दस्तावेजों में विदेशी यात्रियों को बड़ी कीमतों पर बेची गई ज्वैलरी का खुलासा हुआ है।

सीसीटीवी फुटेज जब्त
इन समूहों के व्यावसायिक प्रतिष्ठान और घरों से आयकर विभाग ने सीसीटीवी फुटेज भी जब्त किए हैं। इन तीनों समूहों के घरों पर कार्रवाई का दौर शनिवार को पांचवें दिन खत्म हो सकता है। इसके बाद आयकर विभाग के अफसर कागजों की पड़ताल कर टैक्स चोरी की गणना करेंगे।

2003 में पकड़ा था सबसे बड़ा एंटीक सामान तस्कर
इस कार्रवाई में मूर्ति तस्कर वामन नारायण घीया की याद ताजा हुई है। वर्ष-2003 में घीया को एंटीक सामान के कारोबार और मूर्ति तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया गया था। घीया लंबे समय तक जेल में रहा था और जेल में ही उसकी मृत्यु हुई थी।

income tax

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

अगली कहानी
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned