डीए बढ़ाने से एक साल में आएगा 3417 करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार

Dearness allowance : कोरोना वायरस के राज्यभर में जारी लॉकलाडन के बीच राज्य सरकार ने शुक्रवार को राज्य कर्मचारियों को बड़ी राहत दी है।

By: Ashish

Published: 27 Mar 2020, 04:25 PM IST

जयपुर
Dearness allowance : कोरोना वायरस के राज्यभर में जारी लॉकलाडन के बीच राज्य सरकार ने शुक्रवार को राज्य कर्मचारियों को बड़ी राहत दी है। एक ओर सरकार वायरस से लड़ने के लिए सहायता मांग रही है, दूसरी ओर कर्मचारियों की ओर से लंब समय से की जा डीए बढ़ोतरी के आदेश जारी करने की मांग को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मान लिया है। हालांकि महंगाई भत्ते में इस वृद्धि से राज्य सरकार पर वित्तीय वर्ष 2020-21 में लगभग 3417 करोड़ रुपए का अतिरिक्त वित्तीय भार पड़ेगा।

जानिए कैसे और कितना मिलेगा लाभ

वित्त विभाग की ओर से जारी आदेश के मुताबिक राज्य कर्मचारियों का डीए अब 12 फीसदी से बढ़कर 17 फीसदी हो गया है। आपको बता दें कि बढ़े हुए महंगाई भत्ते का लाभ राज्य कर्मचारियों के अतिरिक्त कार्य प्रभारित कर्मचारियों, पंचायत समिति, जिला परिषद के कर्मचारियों तथा राज्य के पेंशनरों को भी देय होगा।

सरकार की ओर से जारी आदेश के मुताबिक डीए का लाभ एक जुलाई 2019 से मिलेगा। एक जनवरी 2004 से पहले नियुक्त कर्मचारियों को एक जुलाई 2019 से 29 फरवरी 2020 तक का लाभ उनके जीपीएफ फंड में जमा होगा। पेंशनरों तथा 1 जनवरी, 2004 एवं उसके बाद नियुक्त राज्य कर्मचारियों को बढ़े हुए महंगाई भत्ते/महंगाई राहत का भुगतान नकद देय होगा। सभी कर्मचारियों को बढ़ाए गए डीए का नकद लाभ 1 मार्च 2020 से मिलेगा। जो कि 1 अप्रेल को मिलने वाले वेतन और पेंशन में इस बढ़ोतरी के साथ मिलेगी। गौरतलब है कि इस वृद्धि से लगभग 8 लाख कर्मचारी एवं 4.40 लाख पेंशनर्स लाभान्वित होंगे। मुख्यमंत्री ने बजट में डीए बढ़ाने की घोषणा की थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned