राजस्थान में यहां वीरांगना के हाथों से कराया झंडारोहण, शहीद और भारत माता की जय घोष से गूंजा प्रांगण

neha soni | Updated: 15 Aug 2019, 12:22:09 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

राजस्थान में वीरांगना के हाथों से कराया झंडारोहण, शहीद और भारत माता की जय घोष से गूंजा प्रांगण

जयपुर / राजसमंद।

योगेश श्रीमाली

पूरा देश आज 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस आजादी का श्रेय भारत के उन वीर सपूतों को जाता है जिन्होंने अपनी जान की बाजी लगाकर देश को आजाद करवाया। 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रदेश में वीरांगना के हाथों से झंडारोहण करवाया गया। पुलवामा हमले में शहीद हुए राजसमंद के कुंवारिया के नारायण लाल गुर्जर की वीरांगना के हाथों से हुए झंडारोहण ने इस कार्यक्रम को यादगार बना दिया। राजस्थान पत्रिका की प्रेरणा से इस यादगार कार्यक्रम का आयोजन हुआ।


इस मौके पर कुंवारिया तहसील क्षेत्र में स्थित बिनोल गांव के उच्च माध्यमिक विद्यालय में छात्र-छात्राओं, शिक्षकगणों, ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधियों एवं प्रबुद्ध नागरिकों की उपस्थिति में कार्यक्रम का आयोजन हुआ। ध्वजारोहण के समय शहीद नारायण लाल जी अमर रहे तथा भारत माता की जय घोष से प्रांगण गूंज उठा और विधार्थियों की ओर से देशभक्ति के गीतों पर विभिन्न प्रस्तुतियां दी गयीं। कार्यक्रम के दौरान ग्रामीण भावविभोर हो गए।


ग्रामीणों एवं विद्यार्थियों ने सामूहिक रूप से शहीद के आंगन में भारत माता की जय घोष तथा शहीद नारायण लाल गुर्जर अमर रहे के गगनभेदी नारे बुलंद किए। राजस्थान पत्रिका की प्रेरणा से आयोजित कार्यक्रम से शहीद के परिजनों तथा ग्रामीणों ने काफी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि पत्रिका ने सदैव सामाजिक सरोकार को प्राथमिकता देते हुए जन- जन की आवाज को बुलंद किया है।


पुलवामा हमले में शहीद हुए थे नारायण लाल गुर्जर

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को हुए आतंकी हमला देश का सबसे बड़ा आतंकी हमला है। इस हमले में देश के 40 जवान शहीद हो गए। सीआरपीएफ के काफिले पर किए गए इस आत्मघाती हमले में शहीद होने वाले जवानों में राजस्थान के भी पांच सपूत शामिल हैं।
जयपुर के रोहिताश लाम्बा, धौलपुर के भागीरथ, राजसमंद के नारायण लाल गुर्जर, भरतपुर के जीतराम गुर्जर और कोटा के हेमराज मीणा पुलवामा हमले में शहीद हुए थे। इस आत्मघाती हमले में राजसमंद के कुंवारिया के नारायण लाल गुर्जर भी शहीद हुए थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned