Galwan Ghati : बीस सैनिकों की शहादत पर अभी नहीं मिले कई सवालों के जवाब

Galwan Ghati : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश की रक्षा करते हुए गलवान घाटी में प्राण न्योछावर करने वाले वीर सपूतों को नमन करते मंगलवार को कहा कि इस घटना को एक साल हो गया है, लेकिन सरकार ने इस मामले में अभी कई सवालों के जवाब नहीं दिए।

By: hanuman galwa

Published: 15 Jun 2021, 06:06 PM IST

बीस सैनिकों की शहादत पर अभी नहीं मिले कई सवालों के जवाब
सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने मोदी सरकार को घेरा
गलवान घाटी को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना
जयपुर। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश की रक्षा करते हुए गलवान घाटी में प्राण न्योछावर करने वाले वीर सपूतों को नमन करते मंगलवार को कहा कि इस घटना को एक साल हो गया है, लेकिन सरकार ने इस मामले में अभी कई सवालों के जवाब नहीं दिए।
सोनिया गांधी ने जारी बयान में कहा कि पिछले वर्ष 15-16 जून की रात गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में बिहार रेजिमेंट के 20 बहादुर सैनिक और उनके कमांडिंग अफसर शहीद हो गए थे। उन्होंने कहा कि एक साल पहले हुई इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना को लेकर स्थिति साफ होने और उस समय की परिस्थितियों के बारे में देश की जनता को अब भी असलियत जानने का इंतजार है।
सरकार से मांगा जवाब
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस जानना चाहती है कि अब तक इस संबंध में स्पष्ट बयान सरकार की तरफ से क्यों नहीं आया है। एक साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि चीनी सैनिकों ने सीमा का उल्लंघन नहीं किया था। कांग्रेस ने मोदी के बयान के संदर्भ में कई बार स्थिति साफ करने का आग्रह किया लेकिन कोई जवाब सरकार की तरफ से अब तक नहीं आया।
कांग्रेस ने उठाए सवाल
- सरकार बताए कि अप्रैल 2020 से पहले की स्थिति बहाल करने की दिशा में क्या कदम उठाए गए है।
- चीन के साथ संबंध में अब तक जो भी बात हुई है उसमें भारत की स्थिति क्या है।

hanuman galwa Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned