जयपुर के क्रिकेटप्रेमी विराट कोहली से फिर चाहते हैं 2013 जैसा प्रदर्शन

kamlesh sharma

Publish: Dec, 07 2017 07:41:32 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
जयपुर के क्रिकेटप्रेमी विराट कोहली से फिर चाहते हैं 2013 जैसा प्रदर्शन

जयपुर के क्रिकेट प्रेमी विराट कोहली की वह पारी कभी नहीं भूल पाएंगे, जो उन्होंने 16 अक्टूबर 2013 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली थी।

राजेंद्र शर्मा/जयपुर। टीम इंडिया श्रीलंका की अपेक्षाकृत बहुत कमजोर टीम को टेस्ट सीरीज हरा देगी, इसमें किसी को संदेह नहीं था। देखना यह था जीत कितनी बड़ी होती है। टीम ने लगातार नौ सीरीज जीतने के ऑस्ट्रेलिया के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की, विराट ने बतौर कप्तान छह दोहरे शतकों का विश्व रिकॉर्ड बनाया, तो अश्विन ने फास्टेस्ट 300 विकेट झटकने का। अब चूंकि अगले दौरे में टीम इंडिया की अग्नि परीक्षा है। दक्षिण अफ्रीका से दक्षिण अफ्रीका में खेलना है।

इस परिप्रेक्ष्य में देखें तो श्रीलंका से हुई सीरीज से बैटिंग में टीम इंडिया के लिए शानदार हासिल है मुरली विजय और रोहित शर्मा। मौके को इन दोनों ने भुनाया, टैलेंट पर तो संदेह था ही नहीं। आठ महीने बाद लौटे मुरली ने 128 और 155 रन की शतकीय पारियां खेल टीम इंडिया की ओपनिंग की समस्या का समाधान कर दिया। तो, एक साल से ज्यादा समय से टेस्ट टीम से बाहर रहे रोहित शर्मा ने दूसरे टेस्ट में मौका मिला तो शतक लगाकर अपनी उपयोगिता साबित कर दी। कप्तान कोहली और पुजारा तो हैं ही, रोहित के आने से मध्यक्रम और मजबूत होगा।

वैसे, अजिंक्य रहाणे की खराब फॉर्म चिंतनीय है, जिन्हें विदेशी धरती पर बेहतर माना जाता है। उम्मीद है रहाणे को फॉर्म जल्द मिलेगी। इशांत ने इस सीरीज में शानदार गेंदबाजी कर बॉलिंग सेक्शन को मजबूत बनाया है। शमी तो हैं ही, जिन्होंने दिल्ली के पाटा विकेट पर लगातार लेंग्थ पर 140-145 किमी प्रतिघंटा की गति से बॉलिंग कर भरोसा मजबूत किया है।

विराट के कीर्तिमान
जयपुर के क्रिकेट प्रेमी विराट कोहली की वह पारी कभी नहीं भूल पाएंगे, जो उन्होंने 16 अक्टूबर 2013 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली थी। उस पारी की अहमियत यह नहीं है कि विराट ने शतक लगाया था, बल्कि यहां उस पारी का जिक्र इसलिए कर रहे हैं कि एक तो वह इस मि.रिकॉर्ड के कीर्तिमानों का शानदार आगाज था, दूसरे उन्होंने उस दिन पांच साल पुराने वीरेंद्र सहवाग के किसी भी भारतीय के वनडे में सबसे तेज शतक (60 बॉल) का कीर्तिमान तोड़ा था। उस दिन 8 चौके और 7 छक्कों वाली वह आतिशी बल्लेबाजी देख क्रिकेट जानकारों ने यह अंदाजा लगा लिया था कि यह युवा कई रिकॉर्ड तोड़ेगा। सही ही था। उस मैच में उन्होंने मात्र 52 बॉल में शतक जड़ा था।

हाल ही, श्रीलंका की टेस्ट सीरीज में लगातार दो टेस्ट में दोहरे शतकों सहित 610 रन ही नहीं बनाए, ब्रैडमैन और लारा जैसे बल्लेबाजों के कीर्तिमान भी ध्वस्त कर दिए। उन्होंने एक कप्तान के रूप में छह दोहरे शतक लगा लारा के पांच डबल सेंचूरी का रिकॉर्ड ध्वस्त किया। और भी कई रिकॉर्ड तोड़ चुका यह भारत का महान बल्लेबाज। रावलपिंडी एक्सप्रेस शोएब अख्तर तो विराट के लिए कह चुके हैं कि वे 44 की उम्र तक खेलेंगे और 120 शतक लगा सकते हैं।

सीरीज जीत का विश्व रिकॉर्ड
श्रीलंका पर शृंखला जीत के साथ ही टीम इंडिया ने लगातार नौ सीरीज जीत के ऑस्टे्रलिया के 2004-05 में बने रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। अब अगर टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका को टेस्ट सीरीज हरा देती है तो 10 सीरीज जीत के साथ यह नया विश्व रिकॉर्ड बन जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned