पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बड़ी बात नहीं : चिदंबरम

Sanjay Kaushik

Publish: Jul, 12 2019 01:49:17 AM (IST) | Updated: Jul, 12 2019 06:54:38 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

 

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ( P.Chidambaram )का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी की ओर से हवाई बातें करने से अच्छा है कि वे जमीन पर आ जाएं क्योंकि हर पांच-सात साल में अर्थव्यवस्था दोगुनी हो जाती है। ऐसे में पांच साल में भारतीय अर्थव्यवस्था पांच ट्रिलियन डॉलर यानी पांच लाख करोड़ डॉलर की हो जाना कोई बड़ी बात नहीं, बल्कि एक साधारण गणित है। राज्यसभा में बजट पर चर्चा के दौरान सरकार पर आंकड़ों की बाजीगरी का आरोप लगाते हुए चिदंबरम ने कहा कि मोदी सरकार को जान लेना चाहिए कि ऐसा स्वाभाविक रूप से ऐसा हो जाएगा। यह एक साधारण गणित है। यानी पांच ट्रिलियन डॉलर कोई चंद्रयान लॉन्च करने जैसी बात नहीं है।

---किसी पीएम या वित्त मंत्री की जरूरत नहीं

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि 1991 में भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार 325 अरब डॉलर का था, साल 2003-04 में यह दोगुना यानी 618 अरब डॉलर का हो गया। अगले चार साल में यह फिर डबल हो गया 1.22 ट्रिलियन डॉलर तक। सितंबर 2017 तक यह फि र डबल हो गया 2.48 ट्रिलियन डॉलर तक। यह फि र डबल हो जाएगा अगले पांच साल में। इसके लिए किसी प्रधानमंत्री या वित्त मंत्री की जरूरत नहीं है। यह कोई साधारण साहूकार भी जानता होगा। इसमें बड़ी बात क्या है।

-अर्थव्यव्यवस्था की हालत पतली

उन्होंने कहा कि बड़ी बात यह है कि अर्थव्यवस्था कमजोर है। मुझे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री इसको संभालने के लिए साहसी कदम उठाएंगे। वे संरचनात्मक सुधार करेंगे, निवेश को बढ़ाने का उपाय करेंगे। भारत की जीडीपी ग्रोथ को इस साल आठ फीसदी और आगे 10 फीसदी तक ले जाने की कोशिश करेंगे।

---दुखी...लोकतत्र को हर दिन लग रहा झटका

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद पी. चिदंबरम ने कहा कि मैं केवल इसलिए दुखी नहीं हूं क्योंकि भारत कल क्रिकेट मैच हार गया, बल्कि मैं इसलिए बहुत दुखी हूं, क्योंकि लोकतंत्र को हर दिन एक झटका लग रहा है। कर्नाटक और गोवा मुद्दे को ही ले लीजिए, हमने कर्नाटक और गोवा में जो देखा है वह राजनीतिक उत्थान (उन्नति) हो सकता है, लेकिन इसका अर्थव्यवस्था पर बहुत हानिकारक प्रभाव पड़ेगा। ये वास्तविकता है कि राजनीतिक अस्थिरता पर विदेशी निवेशक जो सुनते और पढ़ते हैं, उसका अर्थव्यवस्था पर प्रभाव निश्चित रूप से पड़ेगा।

 

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned