रेलवे रिजर्वेशन— एसी कोच के टिकटों की सबसे ज्यादा डिमांड

रेलवे ने शुरू की आॅन लाइन टिकट बुकिंग
15 अप्रैल से ट्रेनों का परिचालन शुरू होने की उम्मीद
लंबी दूरी ट्रेनों के एसी श्रेणी के टिकटों की सबसे ज्यादा डिमांड
ग्रीष्मकालीन अवकाश अवधि में स्पेशल ट्रेनों के संचालन पर संशय

By: anand yadav

Published: 03 Apr 2020, 11:08 AM IST

जयपुर। 21 दिन के लॉक डाउन के बाद देश की लाइफ लाइन कही जाने वाली भारतीय रेल फिर से ट्रैक पर दौड़ने की उम्मीद है। फिलहाल आगामी 14 अप्रैल तक सभी यात्री गाड़ियों का परिचालन बंद है और केंद्र सरकार द्वारा 14 अप्रैल बाद लॉक डाउन अवधि बढ़ाने से फिलहाल इंकार किया है। जिसके बाद आईआरसीटीसी ने 15 अप्रैल से आगे की अवधि के लिए यात्री गाड़ियों में आॅन लाइन टिकट बुकिंग भी शुरू कर दी है। हालांकि ट्रेनों के संचालन को लेकर अभी तक कोई अधिकारिक सूचना जारी नहीं हुई है और यदि लॉक डाउन अवधि बढ़ती है तो आॅन लाइन बुक किए गए टिकट रद्द हो सकते हैं। वहीं लंबी दूरी वाली ट्रेनों में बुकिंग शुरू होते ही यात्री एसी श्रेणी के टिकट को प्राथमिकता सर्वाधिक मिल रही है।

जानकारी के अनुसार द्वितीय श्रेणी शयनयान श्रेणी की तुलना में एसी श्रेणी में सबसे ज्यादा टिकट आॅन लाइन बुक किए जा रहे हैं। हालांकि पैकेज टूर सुविधा उपलब्ध कराने वाली एजेंसियों द्वारा पैकेज टूर को लेकर आॅन लाइन रिजर्वेशन फिलहाल शुरू नहीं हुआ है लेकिन सामान्य यात्रियों द्वारा ट्रेनों के आॅन लाइन रिजर्वेशन टिकट बनने शुरू हो गए हैं।

रेलवे में मई— जून माह में यात्रा के लिए लंबी दूरी गाड़ियों में टिकट बुक हो जाते हैं और मई—जून के लिए ज्यादातर ट्रेनों में नो रूम की स्थिति बन जाती है । लेकिन इस बार ज्यादातर लंबी दूरी गाड़ियों में कंफर्म टिकट आॅन लाइन मिल रहे हैं। ट्रेनों में फर्स्ट,सैकंड और थर्ड एसी कोच में सबसे ज्यादा आॅन लाइन टिकट बन रहे हैं जबकि ट्रेनों में स्लीपर श्रेणी कोच के लिए सबसे कम टिकट बन रहे हैं।

उत्तर पश्चिम रेलवे जोन में रोजाना करीब अस्सी फीसदी से ज्यादा रिजर्वेशन टिकट आॅन लाइन बुक होते हैं लेकिन इस बार मई जून माह में भी कंफर्म टिकट आॅन लाइन बुकिंग में मिल रहे हैं। कोरोना संक्रमण के भय के चलते इस बार ग्रीष्मकालीन अवकाश के दौरान रेलवे द्वारा चलाई जाने वाली स्पेशल ट्रेनों को लेकर भी फिलहाल स्थिति रेलवे प्रशासन ने अभी तक स्पष्ट नहीं की है। ऐसे में इस बार स्पेशल ट्रेनों के संचालन को लेकर भी संशय की स्थिति बनी हुई है।

anand yadav Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned