scriptIndians deposited 30,500 crore black money in Swiss banks in 2021 | स्विस बैंकों में भारतीयों ने 2021 में जमा किया 30,500 करोड़ कालाधन | Patrika News

स्विस बैंकों में भारतीयों ने 2021 में जमा किया 30,500 करोड़ कालाधन

स्विस बैंकों में 2021 में भारतीय कंपनियों और लोगों की ओर से 30,500 करोड़ रुपए जमा किए गए। यह राशि पिछले 14 साल में सबसे ज्यादा है। वर्ष 2020 में यह आंकड़ा 20,700 करोड़ रुपए था। राशि में प्रतिभूतियों और इसी तरह के अन्य साधनों के साथ जमा को भी शामिल किया गया है।

जयपुर

Published: June 17, 2022 11:30:28 am

स्विस बैंकों में 2021 में भारतीय कंपनियों और लोगों की ओर से 30,500 करोड़ रुपए जमा किए गए। यह राशि पिछले 14 साल में सबसे ज्यादा है। वर्ष 2020 में यह आंकड़ा 20,700 करोड़ रुपए था। राशि में प्रतिभूतियों और इसी तरह के अन्य साधनों के साथ जमा को भी शामिल किया गया है।
swiss-bank-black-money.jpg
स्विट्जरलैंड के केंद्रीय बैंक की ओर से गुरुवार को जारी सालाना आंकड़ों के मुताबिक भारतीयों के बचत और चालू खातों में जमा रकम सात साल के उच्च स्तर 4,800 करोड़ रुपए तक पहुंच गई है। इसके पहले दो साल तक इसमें गिरावट का रुझान था। स्विस नेशनल बैंक ने बताया कि भारतीय ग्राहकों की 2021 अंत तक 30,839 करोड़ रुपए की देनदारी थी।

इसमें 4,800 करोड़ रुपए खाते में जमा किए गए। यह आंकड़ा 2020 में 4,000 करोड़ रुपए था। सबसे ज्यादा रकम बॉन्ड्स, प्रतिभूति और अन्य साधनों के जरिए जमा हुई, जो करीब 16,000 करोड़ रुपए है। स्विस बैंक में भारतीयों की सबसे ज्यादा रकम 52, 000 करोड़ रुपए 2006 में जमा थी। इसके बाद इसमें गिरावट आती गई। हालांकि 2011, 2013, 2017, 2020 और 2021 में इसमें बढ़त देखी गई।
सब कुछ गुप्त
स्विट्जरलैंड में करीब 400 बैंक हैं। इनमें यूबीएस और क्रेडिट सुइस ग्रुप अहम हैं। सभी बैंक गोपनीयता कानून की धारा 47 के तहत बैंक अकाउंट खुलवाने वाले की गोपनीयता रखते हैं। इसीलिए कई भारतीय इनमें धन जमा करते हैं।
14 साल के उच्चतम स्तर पर

इससे पहले वर्ष 2020 के अंत तक स्विट्ज़रलैंड के बैंकों में भारतीय का धन 20,700 करोड़ रुपये था। भारतीय ग्राहकों के बचत या जमा खातों में जमा राशि दो साल की गिरावट की बाद 2021 में लगभग 4,800 करोड़ रुपये के सात साल के उच्चस्तर पर पहुंच गई।
सबसे अधिक ब्रिटेन का पैसा
स्विस बैंकों में सबसे ज्यादा ब्रिटेन का 379 अरब स्विस फ्रैंक जमा है। दूसरे नंबर पर अमरीकियों का168 अरब स्विस फ्रैंक जमा है। 100 अरब से अधिक जमा वाले ग्राहकों की सूची में केवल अमेरिका और ब्रिटेन शामिल हैं।
ये हैं 10 शीर्ष देश
स्विस बैंकों में पैसा रखने वाले दस शीर्ष देशों की सूची में वेस्ट इंडीज, जर्मनी, फ्रांस, सिंगापुर, हांगकांग, बाहमास, नीदरलैंड, केमन आइलैंड और साइप्रस है। इस सूची में भारत का स्थान 44वां है। इसके बाद पोलैंड, दक्षिण कोरिया, स्वीडन, बांग्लादेश और पाकिस्तान का नाम आता है।
पाकिस्तानी भी पीछे नहीं
पाकिस्तानियों की जमा राशि भी स्विस बैंकों में बढ़कर 71.2 करोड़ स्विस फ्रैंक और बांग्लादेश के ग्राहकों की जमा राशि बढ़कर 87.2 करोड़ स्विस फ्रैंक हो गई है। भारत के साथ बंगलादेश और पाकिस्तान जैसे पड़ोसी देशों में भी स्विस बैंकों में कथित काला धन हमेशा से चर्चाओं में रहा है।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

किडनैंपिग के आरोपी हैं बिहार के कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह, सरेंडर वाले दिन ही ली शपथ, नीतीश बोले-मुझे जानकारी नहींदिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉन्च किया ‘मेक इंडिया नंबर-1’ कैंपेन, पूछा - आजादी के 75 वर्ष बाद भी हम बाकी देशों से पीछे क्यों?सुप्रीम कोर्ट ने 'रेवड़ी कल्चर' के खिलाफ सभी पक्षों से मांगे सुझाव, 22 अगस्त तक दिया वक्तशिवमोगा तनाव पर कर्नाटक BJP नेता केएस ईश्वरप्पा का विवादित बयान- मुस्लिम यहां शांति से रहे या पाकिस्तान चले जाएंकेरल कोर्टः यौन उत्पीड़न की शिकायत पहली नजर में नहीं टिकेगी, जब महिला ने 'यौन उत्तेजक' पोशाक पहनी होTrain Accident: महाराष्ट्र के गोंदिया में रेल हादसा, पैसेंजर ट्रेन ने मालगाड़ी को मारी टक्कर; दो यात्री घायलमहागठबंधन सरकार बनने के बाद आज पटना में नीतीश कुमार से मिलेंगे राजद सुप्रीमो लालू यादव, इन मुद्दों पर होगी बातElon Musk News : ट्विटर से डील रद्द करने वाले एलन ने अब Twitter पर ही किया एक और कंपनी खरीदने का ऐलान और फिर मारी पलटी!
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.