विदेशों में फंसे भारतीय, एस. जयशंकर से मिले राठौड़-पूनियां

कोरोना वायरस की महामारी के चलते हजारों की संख्या में भारती छात्र विदेशों में फंस गए हैं। सोश्यल मीडिया के जरिए ये छात्र गुहार कर रहे हैं कि सरकार उन्हें वापस भारत लाए। अब उनकी इस मांग को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ और सीकर सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर तक पहुंचाया है।

By: Umesh Sharma

Published: 19 Mar 2020, 03:24 PM IST

जयपुर।

कोरोना वायरस की महामारी के चलते हजारों की संख्या में भारती छात्र विदेशों में फंस गए हैं। सोश्यल मीडिया के जरिए ये छात्र गुहार कर रहे हैं कि सरकार उन्हें वापस भारत लाए। अब उनकी इस मांग को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ और सीकर सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर तक पहुंचाया है। नई दिल्ली में इन तीनों नेताओं ने जयशंकर से मुलाकात कर इस दिशा में उचित कार्रवाई की मांग की है।

पूनिया ने बताया कि विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने आश्वस्त किया कि सरकार स्थिति पर नजर बनाए हुए है। इसके संबंध में भारतीय दूतावासों को आवश्यक दिशा—निर्देश दिए हुए हैं। इसके अतिरिक्त कंट्रोल रूम बनाए जाने की बात कही गई है, जहां पर उनकी सुविधाओं और स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाएगा और उनको किसी प्रकार की समस्या ना हो उसके बारे में दिन-प्रतिदिन जानकारी प्राप्त की जाएगी। विदेश मंत्री ने यह भी कहा कि जहां से संभव हो सकेगा वहां से छात्रों को देश में लाने की पूरी कोशिश की जाएगी और जहां सम्भव नहीं होगा, वहीं पर उनका पूरा ध्यान रखा जाएगा।

अभिभावक घबराएं नहीं

पूनियां ने प्रदेश के उन अभिभावकों को, जिनके बच्चे कोरोना से प्रभावित देशों में अध्ययनरत हैं, उन्हें आश्वासन दिया कि आपको घबराने की जरूरत नहीं है। मोदी सरकार ने कोरोना से निपटने की व्यापक व्यवस्था पूरे देश में की है। केंद्र की ओर से सभी तरह के प्रबंध किए जा रहे हैं, ताकि इस वायरस को फैलने से रोका जा सके।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned