एसएमएस अस्पताल में चिकित्साकर्मियों का संक्रमित होना प्रशासनिक लापरवाही का नतीजा—सराफ

पूर्व चिकित्सा मंत्री एवं विधायक कालीचरण सराफ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर एसएमएस हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों के इलाज में जुटे डॉक्टर्स व मेडिकल स्टाफ के संक्रमित होने को लेकर गहरी चिंता जताई है।

By: Umesh Sharma

Updated: 23 Apr 2020, 05:37 PM IST

जयपुर।

पूर्व चिकित्सा मंत्री एवं विधायक कालीचरण सराफ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर एसएमएस हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों के इलाज में जुटे डॉक्टर्स व मेडिकल स्टाफ के संक्रमित होने को लेकर गहरी चिंता जताई है।

सराफ ने पत्र में कहा कि 27 चिकित्साकर्मी जिसमें 8 डॉक्टर्स, 9 नर्सेज, 3 रेडियोग्राफर, 4 वार्ड ब्वॉय, 1 लिफ्टमैन, 1 कंप्यूटर ऑपरेटर तथा 1 वॉशरमैन के कोरोना संक्रमित होने से ऐसा प्रतीत होता है कि कोरोना की रोकथाम के लिए प्रशासन द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं में भारी खामियां हैं। कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे चिकित्साकर्मियों को पूरी गाइडलाइन का पालन करते हुए सुरक्षा उपाय किए जाने चाहिए।

उन्हें एन 95 मास्क, अच्छी क्वालिटी के पीपीई किट व ग्लव्स उपलब्ध करवाने चाहिए। अच्छी क्वालिटी का पौष्टिक भोजन तथा रहने के लिए हॉस्पिटल के आसपास की होटल्स में इंतजाम किया जाना चाहिए, जो कि दुर्भाग्यवश नहीं किया जा रहा है। ये चिकित्साकर्मी शहर में अलग—अलग क्षेत्रों से आते हैं, और ड्यूटी के बाद वापस अपने घर चले जाते हैं। ऐसे में यदि इन्हें संक्रमण होता है तो इनके परिवार के सदस्यों सहित उन क्षेत्रों में भी संक्रमण की सम्भावना बढ़ जाती है।

सराफ ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि कोरोना महामारी की गंभीरता को समझते हुए इसकी रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठाने की आवश्यकता है। एसएमएस प्रशासन को सभी कमियों को दूर करने एवं चिकित्साकर्मियों की सुरक्षा, सुविधा सहित सम्पूर्ण व्यवस्था को सुद्रढ़ करने के निर्देश दिए जाएं जिससे हम कोरोना संक्रमण से अपनी लड़ाई को मजबूती से लड़ कर उसे समाप्त कर पाएं।

Corona virus
Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned