दूसरी मंजिल से नीचे गिरने पर मासूम की मौत


अलवर में गुरुवार को दर्दनाक हादसा हुआ। एक मासूम बालक दूसरी मंजिल से नीचे गिर गया। जिससे उसकी मौत हो गई। मासूम की मौत के बाद कॉलोनीवासी मौके पर एकत्रित हो गए। जिसके बाद लोगों ने आरोप लगाया कि हाउसिंग सोसायटी की लापरवाही की वजह से बच्चे की मौत हुई है। अगर दूसरी मंजिल पर रेलिंग होती तो बच्चा नीचे नहीं गिरता। इस बारे में कई बार हाउसिंग सोसायटी को कहा गया। लेकिन हाउसिंग सोसायटी की तरफ से कोई ध्यान नहीं दिया गया।


अलवर में गुरुवार को दर्दनाक हादसा हुआ। एक मासूम बालक दूसरी मंजिल से नीचे गिर गया। जिससे उसकी मौत हो गई। मासूम की मौत के बाद कॉलोनीवासी मौके पर एकत्रित हो गए। जिसके बाद लोगों ने आरोप लगाया कि हाउसिंग सोसायटी की लापरवाही की वजह से बच्चे की मौत हुई है। अगर दूसरी मंजिल पर रेलिंग होती तो बच्चा नीचे नहीं गिरता। इस बारे में कई बार हाउसिंग सोसायटी को कहा गया। लेकिन हाउसिंग सोसायटी की तरफ से कोई ध्यान नहीं दिया गया।

बच्चे की मौत के तत्काल बाद हाउसिंग सोसायटी की तरफ से दूसरी मंजिल पर रेलिंग लगा दी गई। यह रेलिंग हादसा होने के बाद लगाई गई। लोगों का कहना है कि क्या हाउसिंग सोसायटी हादसा होने का इंतजार कर रही थी। जो हादसा होने के बाद रेलिंग लगाई गई।

अलवर के अपनाघर शालीमार हाउसिंग सोसायटी की ऑफिसर एंक्लेव 2 कॉलोनी में दूसरी मंजिल से गिरने से 18 माह के बच्चे चिराग पुत्र अमित शर्मा की मौत हुई। अमित शर्मा दूसरी मंजिल के फ्लैट में रहते थे। उनकी दो बेटियां व 18 माह का पुत्र चिराग था। जिसकी बालकनी में रेलिंग के पास खड़े होने पर रेलिंग में एक सरिया कम लगा हुआ था। जिसकी वजह से गैप होने से बालक रेलिंग से नीचे आ गिरा। कॉलोनी के लोगों ने बताया की रेलिंग सही नहीं बनी हुई थी। इसको लेकर उन्होंने हाउसिंग सोसायटी के मेंटेनेंस विभाग को पहले भी कई बार अवगत कराया था। लेकिन रेलिंग को सही नहीं किया गया। जिस वजह से बच्चा गिर गया।

manish chaturvedi Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned