सिपाही भर्ती परीक्षा में अब इंटरनेट पूरी तरह से बैन

सिपाही भर्ती परीक्षा में अब इंटरनेट पूरी तरह से बैन

Jayant Sharma | Publish: Mar, 14 2018 12:06:38 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

सिपाही भर्ती परीक्षा में अब इंटरनेट पूरी तरह से बैन जिन दस जिलों में पुलिस भर्ती परीक्षा हो रही उन सभी जिलों में पुलिस अफसरों को एसओजी ने चेताया कहा



जयपुर
राजस्थान में पुलिस भर्ती परीक्षा में हो रही नकल पर एसओजी के छापे के बाद अब हमेशा की तरह उन अभ्यर्थियों की परेशानी बढ़ गई है जो परीक्षा दे रहे हैं। एसओजी ने उन सभी जिलों के पुलिस अफसरों को चेताया है कि वे अपने-अपने परीक्षा केंद्रों पर और ज्यादा सख्ती से अभ्यर्थियों की चैकिंग करें और इंटरनेट के प्रयोग को पूरी तरह से बैन करें। गौरतलब है कि पैंतालीस दिनों तक प्रदेश के दस जिलों में सोलह लाख रुपए से ज्यादा अभ्यर्थी पुलिस भर्ती परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। भर्ती करीब पांच हजार चार सौ पदों पर हो रही है।

 

 

जयपुर के मुरलीपुरा में आज मारा छापा
एसओजी ने इस मामले में अब तक आठ से भी ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है। जयपुर के बाद नागौर से भी दो लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इन सभी को दस दिन की रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। कल शाम हुई पूछताछ े आधार पर आज सवेरे एसओजी ने मुरलीपुरा में स्थित एक स्कूल पर छापा मारा है। स्कूल संचालक से भी पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि डाल्फीन स्कूल भी इन बदमाशों के संपर्क मंे था और नकल कराने में सहयोग कर रहा था। उस पर भी मुकदमा दर्ज कर जांच करने की तैयारी है। वहां से दस्तावेज जब्त किये गए हैं।

दिल्ली और हरियाणा में प्रतियोगी परीक्षाओं को भी कर चुके हैं हैंक
एसओजी की पूछताछ में सामने आया है कि गैंग ने पहली बार राजस्थान में किसी परीक्षा को हैंक करने की कोशिश की थी। लेकिन अपने पहले ही प्रयोग में वे असफल हो गए और एसआेजी ने सभी को धर लिया। कम्प्यूटरर्स को तकनीक के जरिए हैंक करने वाले और हर दिन दस हजार रुपए फीस लेने वाले अभिमन्यु और संजय पहले भी चार परीक्षाओं को हैंक कर चुके हैं। ये परीक्षाएं दिल्ली और हरियाणा में आयोजित हुई थी। इन परीक्षाओं में भी मुख्यतार, पकंज, संजय, अभिमन्यु और टीम के अन्य लोगों ने मोटा पैसा कमाया था।

दिल्ली, हरियाणा में एसआेजी की टीम का सर्च जारी
दिल्ली और हरियाणा से पूरी गैंक के तार जुडऩे के साथ ही एसओजी की दो टीमें दिल्ली और हरियाणा में सर्च कर रही है। दिल्ली में गाजियाबाद और हरियाणा में रोहतक एवं अन्य जिलों में एसओजी की तलाश जारी है।

और बड़ा हो सकता है नेटवर्क
एसओजी अफसरों का कहना है कि गिरफ्तार आरोपियों के मोबाइल फोन जब्त करने के साथ ही उनसे जो जानकारी मिल रही है इस आधार पर कहा जा सकता है नेटवर्क बड़ा है। अब तक करीब आठ से दस लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है। लेकिन गिरफ्तार लोगों की संख्या करीब चालीस तक पहुंच सकती है। कईयों के बारे में सूचना मिली है लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है।

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned