जयपुर में सोमवार सुबह तक इंटरनेट बंद, एमपैट के प्रवेश पत्र नहीं हुए डाउनलोड, परेशान होते रहे यात्री

Internet Ban Impect : जयपुर संभाग में इंटरनेट बंद ( Internet Shutdown ) होने के कारण आम लोग परेशान , ट्रेन-कैब बुकिंग के लिए परेशान होते रहे यात्री, अभ्यर्थी प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं कर पाए

जयपुर. अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद ( Supreme Court Decision Ayodhya case ) जयपुर संभाग में इंटरनेट बंद ( Internet Shutdown ) होने के कारण आम लोग परेशान नजर आ रहे है। ना तो वे ऑनलाइन ट्रेन की टिकट, कैब बुक करवा पा रहे है, ना ही ऑनलाइन फूड ऑर्डर कर पा रहे और न ही सरकारी टैंकरों से पानी मंगवा पा रहे है। सबसे ज्यादा समस्या यात्रियों और एमपैट की परीक्षा देने वाले स्टूडेंट् को है, जिनकी सोमवार को परीक्षा है। गौरतलब है कि प्रशासन ने राममंदिर मामले के निर्णयको लेकर एहतियातन शहर में इंटरनेट पर रोक लगा दी। जो सोमवार सुबह तक रहेगी।

यात्री ट्रेन कैब की नहीं कर सके ऑनलाइन बुकिंग

इंटरनेट बंद होने की वजह से प्रदेशभर के यात्रियों को काफी समस्या हुई। यात्रियों को टिकट बुक कराने, कंफर्म, लोकेशन ट्रेस करने के साथ ऑन लाइन कैब और ऑटो बुकिंग समेत कई परेशानियों से जूझना पड़ा। इंटरनेट बंद होने के चलते जंक्शन पर यात्रियों को लम्बी लाइनों में लगकर टिकट लेना पड़ा, वहीं कैब बुकिंग नहीं होने की वजह से लोगों को काफी भटकना पड़ा।

इसमें सबसे ज्यादा परेशानी विदेशी मेहमानों को भी हुई। कैब बुक नहीं होने की स्थिती में देशी विदेशी यात्राी ऑटो के लिए भटकते नजर आए। ऑटो चालक भी मनमाना किराया वसूल रहे हैं।

अभ्यर्थी प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं कर पाए

राजस्थान विश्वविद्यालय में पीएचडी-एमफिल में प्रवेश के लिए एमपैट परीक्षा सोमवार को आयोजित की जाएगी। शहर में इंटरनेट बंद होने के कारण कई अभ्यर्थी प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं कर पाए। इसके चलते विवि ने वैकल्पिक व्यवस्था की है। अभ्यर्थी परीक्षा शुरू होने से एक घंटा पूर्व परीक्षा केंद्र से भी प्रवेश पत्र ले सकेंगे।

परीक्षा सोमवार सुबह 9 बजे से 12 बजे तक निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जाएगी। वहीं विशेष व्यवस्था के आधार पर परीक्षार्थी अपना प्रवेश पत्र निर्धारित परीक्षा केंद्र पर भी सुबह 7 से 8 बजे के बीच प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए परीक्षार्थी को अपना आईडी परीक्षा केंद्र पर प्रस्तुत करना होगा। इसके अतिरिक्त विश्वविद्यालय इंफोनेट सेंटर के माध्यम से भी परीक्षार्थी अपना परीक्षा प्रवेश पत्र प्राप्त कर सकते हैं।


सरकारी टैंकरों से होने वाली निशुल्क जल वितरण व्यवस्था ठप

इंटरनेट बंद होने के कारण सरकारी टैंकरों से होने वाली निशुल्क जल वितरण व्यवस्था ठप है। शहर में जलदाय विभाग की सरकारी टैंकरों से निशुल्क जल वितरण व्यवस्था भी चरमरा गई है।
गौरतलब है कि जलदाय विभाग ने बीते पांच महीने पहले पूरे जयपुर शहर में सरकारी टैंकरों से होने वाली निशुल्क जल वितरण व्यवस्था को ऑन लाइन बुकिंग सिस्टम से जोड़ा है। ऑन लाइन बुकिंग कराने के बाद ही टैंकर संचालक निशुल्क पेयजल वितरण करते हैं, जिसमें टैंकर चालक को पंप हाउस से रवाना होने व तय स्थान पर टैंकर का पानी खाली करने पर टैंकर का फोटो विभाग की साइट पर अपलोड करना होता है। विभाग की साइट पर अपलोड हुए रिकॉर्ड के आधार पर ही जलदाय विभाग टैंकर संचालन कर रही ठेका फर्म को टैंकर ट्रिप का भुगतान करता है।

Deepshikha Vashista
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned