सीधे संवाद से खुलेगी निवेश की राह : डॉ. सुबोध अग्रवाल

रोजगार के अवसर बढ़ाने के प्रयासों पर जोर

By: hanuman galwa

Published: 04 Jul 2019, 07:01 PM IST

उद्योग विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा है कि औद्योगिक इकाइयों के प्रतिनिधियों से सीधा संवाद कायम कर राज्य में औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देने और रोजगार सृजन के अवसरों को चिन्हित किया जा रहा है।
डॉ. अग्रवाल गुरुवार को सीधे संवाद कार्यक्रम के तीसरे सत्र में बीआईपी में प्रदेश की चुनिंदा औद्योगिक इकाइयों के प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने बताया कि नया कानून आने के साथ ही प्रदेश में औद्योगीकरण की राह खुलने से आने वाले समय में राजस्थान निवेशकर्ताओं की पहली पसंद होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कानून और प्रक्रियाओं के सरलीकरण के साथ आगे आ रही है, ताकि निवेशकर्ता आगे बढ़कर प्रदेष में औद्योगिक इकाइयां स्थापित करे। राजस्थान स्पिनिंग व विविंग मिल के महाप्रबंधक अविनाश भार्गव ने बताया कि प्रदेश में 147 करोड़ का विस्तार कार्यक्रम प्रस्तावित है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 9 इकाइयों में 4 हजार करोड़ के निवेश के साथ 15 हजार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। धानुुका ग्रुप के सिनमेडिक के अमित ने बताया कि प्रदेश में दो इकाइयों में 150 करोड़ के निवेश से दवाओं का निर्माण कर 15 देशों को निर्यात किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि विस्तारीकरण की योजना है। तीन सत्रों की चर्चाओं के दौरान इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी को कम करने और राज्य सरकार से समयबद्ध सहायता उपलब्ध कराने का सुझाव दिया गया। भूमि और पानी की उपलब्धता पर भी चर्चा हुई।


कार्यशाला: राज्य के उद्योग विभाग की दो दिवसीय विचार मंथन कार्यशाला का 5 तथा 6 जुलाई को जयपुर में होगी। उद्योग आयुक्त डॉ. कृष्णा कांत पाठक ने बताया कि इस कार्यषाला में सभी जिला उद्योग केंद्रों के महाप्रबंधकों के साथ ही विभाग के वरिष्ठ अधिकारी और केन्द्र व राज्य सरकार के विषेषज्ञ हिस्सा लेंगे।

hanuman galwa Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned