आईपीएल 2021 मेगा ऑक्शन : फ्रेंचाइजियों की मांग : अंतिम  11 में चार की जगह पांच विदेशी खिलाड़ी शामिल हों

नए सत्र में बड़े परिवर्तन के साथ आयोजित होगा टूर्नामेंट.......पावर सर्ज और एक्स फैक्टर प्लेयर नियम भी जुड़ सकेंगे......इस साल बिग बैश लीग ने भी किए हैं परिवर्तन

By: satish

Published: 26 Nov 2020, 10:57 AM IST

नई दिल्ली। कोरोनाकाल में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) सीजन १३ आयोजित कर वाहवाही लूट चुका भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) नए सत्र में बड़े परिवर्तन के साथ उतरने की तैयारी कर रही है। दरअसल कुछ फ्रेंचाइजियां जनवरी में होने वाले मेगा ऑक्शन में कुछ परिवर्तनों को चाहती हैं जिसमें विदेशी खिलाडिय़ों की भागीदारी बढ़ाने सहित कई और नियम भी हैं। आईपीएल सत्र २०२१ में इस बार मेगा ऑक्शन होना है यानि टीमों में बड़े स्तर पर फेरबदल किए जाएंगे तो कई टीमों के पूरी तरह से बदलने की भी पूरी संभावना है। ऐसे में फ्रेंचाइजियों ने टूर्नामेंट को रोचक बनाने के लिए आईपीएल गर्वनिंग कॉन्सिल से मांग की हैं और संभावना है कि इन मांगों पर बीसीसीआई निश्चित रूप से अमल करेगी क्योंकि मेगा ऑक्शन भी फ्रेंचाइजियों की मांग के अनुसार ही आयोजित किया जा रहा है। इसकी चर्चा दुबई में हाल ही में संपन्न हुए सीजन में की गई थी।
नए सीजन में ये हो सकते हैं परिवर्तन
अंतिम एकादश में पांच विदेशी खिलाड़ी
आईपीएल के अब तक के १३ सीजन में अंतिम एकादश में फ्रेंचाइजियां चार विदेशी खिलाडिय़ों को शामिल करती थी लेकिन अब उसकी यह मांग पांच विदेशी खिलाडिय़ों तक पहुंच गई है। यदि इस माना जाएगा तो हर टीम में विदेशी खिलाडिय़ों की भागीदारी बढऩा तय है और नुकसान भारतीय खिलाडिय़ों का तो होना ही है। विदेशी खिलाड़ी ऑक्शन में भारी रकम अर्जित कर सकते हैं जिसके लिए फ्रेंचाइजियां तैयार खड़ी हैं। फ्रेंचाइजियों को मानना है कि विदेशी खिलाडिय़ों की भागीदारी से आईपीएल में दर्शकों की और रोचकता बढ़ेगी।
दो नई टीमें
फ्रेंचाइजियों ने दो नई टीमों की भी मांग गर्वनिंग कॉन्सिल से की है। अब तक केवल ८ टीमें हिस्सा ले रही हैं। राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई पर दो साल के बैन के बाद भी दो नई टीमें जोड़कर टूर्नामेंट कराया गया। अब दो नई टीमें जोड़कर नए सत्र को करीब तीन महीने तक खींचा जा सकता है।
पावर सर्ज
पावर सर्ज के दौरान बल्लेबाजी करने वाली टीम को 2 ओवर का पावरप्ले लेने का अधिकार होगा। यह ग्यारहवें ओवर के बाद लिया जा सकेगा। इस दौरान फील्डिंग करने वाली टीम सिर्फ दो ही फील्डर सीमा रेखा पर तैनात कर सकती है। देखा जाए तो पहले मिलने वाले छह ओवर के पावरप्ले में से दो ओवर कम किये गए हैं। शुरुआत में चार ही ओवर का पावरप्ले रखा गया है। यह नियम हाल ही में बिग बैश लीग में जोड़ा गया है।
एक्स प्लेयर फैक्टर
एक्स प्लेयर फैक्टर के अंतर्गत बारहवें और तेरहवें खिलाड़ी को पहली पारी में दस ओवर तक किसी भी खिलाड़ी की जगह शामिल किया जा सकता है। बल्लेबाजी करने वाली टीम के पास यह अधिकार रहेगा कि अगर दस ओवर तक किसी खिलाड़ी ने बल्लेबाजी नहीं की है तो उसे बदला जा सकेगा। यही नियम गेंदबाजी करने वाली टीम पर भी लागू होगा लेकिन उसमें कोई खिलाड़ी एक ओवर से ज्यादा गेंदबाजी नहीं किया हुआ होना चाहिए। एक ओवर गेंदबाजी करने वाले गेंदबाज को बदला जा सकेगा।

satish Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned