scriptIt is also necessary to take tough decisions with bravery in life | जीवन में बहादुरी के साथ कड़े फ़ैसले लेना भी ज़रूरी | Patrika News

जीवन में बहादुरी के साथ कड़े फ़ैसले लेना भी ज़रूरी

locationजयपुरPublished: Apr 13, 2022 12:12:36 am

Submitted by:

Gaurav Mayank

बच्चों को एक अभिभावक के तौर पर एक ऐसे शख़्स की दरकार होती है जो उन्हें अच्छी तरह से सुने और समझे, उनपर विश्वास करे और उन्हें जस का तस स्वीकार करें। इस बात को हमेशा याद रखें कि एक अभिवावक होने का मतलब अपने बारे में यह जानना है कि आप में वो जादू करने की क़ाबिलियत है जिसके बारे में ख़ुद आपको भी ना पता हो!

जीवन में बहादुरी के साथ कड़े फ़ैसले लेना भी ज़रूरी
जीवन में बहादुरी के साथ कड़े फ़ैसले लेना भी ज़रूरी

दुनिया को बदलने के लिए हमें किसी जादू की ज़रूरत नहीं होती है, बल्कि हमारे अंदर पहले से ही
ऐसी सभी ज़रूरी शक्तियां मौजूद रहती हैं : जे. के. रावलिंग

जयपुर। किसी टीनेज लड़की की तरह ही गरिमा सावलानी (Garima Savlani) ने भी हमेशा से ही प्यार करनेवाले और ख़ुशियां बांटने वाले परिवार का हिस्सा बनने का सपना संजोया था, मगर नियति को कुछ और ही मंज़ूर था। उन्होंने कहा कि 13 साल की मेरी शादीशुदा ज़िंदगी पति के विवाहेतर संबंधों और उनके हिंसात्सक रवैये के चलते बिखरने लगी थी। इसने मेरी ज़िंदगी को पूरी तरह से बदलकर रख दिया था‌ और ऐसे में मेरे पास कोई चारा नहीं बचा था। मुझे 13 साल के बेटे के साथ नये शहर में जाकर दोबारा‌ से ज़िंदगी की शुरुआत करने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने कहा कि जीवन में बहादुरी के साथ कड़े फ़ैसले लेना भी उतना ही ज़रूरी है। ऐसे में स्वाभाविक है कि लोग आप पर टिका-टिप्पणी करेंगे, मगर यकीनन आपमें इस सबसे बाहर निकलने‌ की ताक़त होती है।
मुझे जल्द ही इस बात का अहसास हो गया था कि अकेले ही मुझे एक सिंगल पैरेंट की तरह बेटे को बेहतर परवरिश देने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा। शुरुआत में नौकरी, बेटे और घर को एक साथ संभालने में बहुत दिक़्क़तों का सामना करना पड़ता। ऐसे में मैं अपने काम के सहारे ही ख़ुद को संभाल पाई। मैंने दिन-रात मेहनत की और एक दिन स्कूल की प्रधानाचार्य बनने में कामयाबी पाई। मेरी मां और मेरे भाई ने हमेशा से मुझे सहारा दिया और एक मज़बूत दीवार की तरह हमेशा मेरा साथ दिया।
हाल ही में मैं बंगलुरू स्थित क्राइस्ट चर्च यूनिवर्सिटी में अपने बेटे के स्नातक समारोह में शामिल हुई थी। फ़र्स्ट क्लास मैनेजमेंट की डिग्री बेटे के हाथों में देखकर मैं ख़ुशी से भूली नहीं समा रही थी। मेरा बेटे को फ़ोटोग्राफ़ी का शौक रहा है और फ़िलहाल वो फ़्रीलांस फ़िल्ममेकर के तौर पर नामी ब्रांड्स के लिए काम करता है। हमने एक प्यारी सी पग एंजेल को गोद लेकर परिवार को और भी ख़ूबसूरत बना लिया। 8 सालों से एंजेल हमारे साथ रह रही है।
रास्ता ख़ुद बनाने की आज़ादी देने के पक्ष

मैं बच्चों के विकास के लिए उन्हें बेहतरीन संसाधन मुहैया कराने, बढ़िया मौके उपलब्ध कराने और अपना रास्ता ख़ुद बनाने की आज़ादी देने के पक्ष में हूं। मैं उन्हें बेमतलब परेशान‌ किये बग़ैर हमेशा उनका साथ देने में यकीन रखती हूं। बच्चों को एक अभिभावक के तौर पर एक ऐसे शख़्स की दरकार होती है जो उन्हें अच्छी तरह से सुने और समझे, उनपर विश्वास करे और उन्हें जस का तस स्वीकार करें। इस बात को हमेशा याद रखें कि एक अभिवावक होने का मतलब अपने बारे में यह जानना है कि आप में वो जादू करने की क़ाबिलियत है जिसके बारे में ख़ुद आपको भी ना पता हो!
(गरिमा सावलानी, शिक्षाविद्, मां और पशु-प्रेमी)

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

'गद्दार' विवाद के बाद पहली बार गहलोत और पायलट का हुआ आमना-सामना, देखें वीडियोगौतम अडानी ग्रुप को मिला धारावी रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट, 5 हजार करोड़ की लगाई थी बोलीगुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का प्रचार आज खत्म, 1 दिसम्बर को होगी वोटिंगउड़नपरी की एक और बड़ी उड़ानः भारतीय ओलंपिक संघ की पहली महिला अध्यक्ष बनीं पीटी उषासीएम की बहन व YSRTP प्रमुख वाईएस शर्मिला पुलिस हिरासत में, क्रेन से खींची कारगुजरात चुनाव में भाजपा के सबसे अधिक उम्मीदवार हैं करोड़पति, दूसरे पर कांग्रेसआरबीआई एक दिसंबर को लॉन्च करेगा रिटेल डिजिटल रुपयाGujarat Election 2022 : अहमदाबाद जिले में 2044 दिव्यांग एवं बुजुर्गों ने किया मतदान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.