scriptJaipur became the capital of fake notes, 2.30 lakh fake notes | जयपुर बना नकली नोटों की राजधानी, खप गए 2.30 लाख नकली नोट | Patrika News

जयपुर बना नकली नोटों की राजधानी, खप गए 2.30 लाख नकली नोट

नोटबंदी के बाद भी नकली नोटों का चलन कम नहीं हुआ है। प्रदेश के ज्यादातर जिलों में दस से 500 रुपए तक के नकली नोट बाजार में पहुंच रहे हैं। गिरोह ने सबसे ज्यादा नकली नोटों को जयपुर, अलवर व भरतपुर के बाजार में खपाया है। यही वजह है कि इन जिलों में पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा नकली नोट पकड़ में आए। जयपुर में 500 के 732 नोट और सीकर में 235 नोट जब्त किए गए।

जयपुर

Published: June 01, 2022 07:16:22 pm

नोटबंदी के बाद भी नकली नोटों का चलन कम नहीं हुआ है। प्रदेश के ज्यादातर जिलों में दस से 500 रुपए तक के नकली नोट बाजार में पहुंच रहे हैं। गिरोह ने सबसे ज्यादा नकली नोटों को जयपुर, अलवर व भरतपुर के बाजार में खपाया है। यही वजह है कि इन जिलों में पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा नकली नोट पकड़ में आए। जयपुर में 500 के 732 नोट और सीकर में 235 नोट जब्त किए गए।
money51.jpg
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की हाल में जारी रिपोर्ट के अनुसार बैंकों में पांच सौ रुपए के नकली नोट पिछले साल की तुलना में 101.9 प्रतिशत ज्यादा पकड़े गए। बैंक और आरबीआइ ने 2020-21 में 208625 और 2021-22 मे 230971 नकली नोट पकड़े थे। प्रदेश में 2021 में छह हजार सात सौ बत्तीस नकली नोट पकड़े गए थे। बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि 500 के नकली नोट बाजार में ज्यादा उतारे जाते हैं। क्योंकि 100 व 50 रुपए के नोट में मुनाफा कम रहता है।
रिजर्व बैंक ने करवाई पांच एफआइआर

रिजर्व बैंक ने जयपुर के गांधी नगर थाने में गत सवा दो वर्ष में बैंकों में नकली नोट जमा होने के 5 प्रकरण दर्ज कराए हैं। गांधी नगर थानाधिकारी नेमीचंद ने बताया कि इनमें सबसे अधिक 100-100 रुपए के जाली नोट होने के मामले अधिक हैं। इस अवधि में 100-100 के 1900 जाली नोट शहर के विभिन्न बैंकों की ब्रांच में जमा हुए। वहीं 50-50 के 17 जाली नोट भी मिले।
राजधानी में 17.93 लाख के नकली नोट
राजधानी जयपुर में पुलिस व एसओजी ने वर्ष 2021 से अब तक करीब 17.93 लाख रुपए के जाली नोट पकड़े हैं। इनमें सबसे अधिक 500-500 के नोट हैं। दो-दो हजार के चार लाख के नकली नोट पकड़े जा चुके।
2021 में यहां पकड़े गए 500 के नकली नोट

50 व 100 के नकली नोट कम: रिपोर्ट के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 में 10 रुपए के नकली नोटों में 16.4%, 20 में 16.5%, 200 में 11.7 %, 500 मे 101.9% तथा 2000 के नकली नोटों मे 54.6% की बढ़ोतरी हुई। 50 रुपए के नकली नोट 28.7% व 100 रुपए के 16.7% कम हुए हैं।
जयपुर: 732 अलवर: 515

भरतपुर: 503 गंगानगर: 499

बीकानेर: 471 सीकर: 235

रिजर्व बैंक ने बढ़ाए सेफ्टी फीचर्स
आरबीआइ की ओर से हर नोट पर पहचान के लिए कुछ सेफ्टी फीचर्स अंकित होते हैं। आमजन को भारतीय मुद्रा की पहचान के सभी तरीकों का पता रखना चाहिए। जिससे नकली नोटों से बच सके। आरबीआइ ने 2022-23 के लिए एजेंडा तय किया है। आमजन को इसके लिए जागरूक किया जाएगा। वहीं कुछ सेफ्टी फीचर्स को बदला जाएगा।
सुधेश पूनिया, बैंकिंग विशेषज्ञ, सीकर

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.