अधिकारी करते रहे इंतजार, गिने-चुने ही पहुंचे आवंटन पत्र लेने

शहर से कच्ची बस्तियां (kachchi basti) दूर नहीं हो पा रही है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी नगर निगम (Municipal Corporation Jaipur) प्रशासन कच्ची बस्तियों को बाहर शिफ्ट नहीं कर पा रहा है। आदर्श नगर स्थित चेतना कच्ची बस्ती (Chetna Kachchi Basti) को जयसिंह पुरा खोर में शिफ्ट करना है।

अधिकारी करते रहे इंतजार, गिने-चुने लोग ही पहुंचे आवंटन पत्र लेने
- चेतना कच्ची बस्ती के पुनर्वास के लिए नगर निगम ने लगाया शिविर
- जयसिंहपुरा खोर में होगा 372 परिवारों का पुनर्वास

जयपुर। शहर से कच्ची बस्तियां (kachchi basti) दूर नहीं हो पा रही है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी नगर निगम (Municipal Corporation Jaipur) प्रशासन कच्ची बस्तियों को बाहर शिफ्ट नहीं कर पा रहा है। आदर्श नगर स्थित चेतना कच्ची बस्ती (Chetna Kachchi Basti) को जयसिंह पुरा खोर में शिफ्ट (Shift) करना है, लेकिन नगर निगम की ओर से आवंटन पत्र जारी करने के लिए बार-बार शिविर लगाने के बाद भी लोग नहीं आ रहे हैं। चेतना कच्ची बस्ती को शिफ्ट करने के लिए नगर निगम करीब 5-6 बार शिविर लगा चुका हैं, लेकिन कच्ची बस्ती के लोग आवंटन पत्र ही लेने नहीं पहुंच रहे हैं।

नगर निगम ने मंगलवार को फिर चेतना कच्ची बस्ती के पुनर्वास के लिए शिविर लगाया। सेठी कॉलोनी के पार्क में लगाए गए शिविर में अधिकारी लोगों का इंतजार करते रहे। बस्ती के गिने-चुने लोग ही आवंटन पत्र लेने पहुंचे। अधिकारियों ने उनके दस्तावेज आदि की जांच की। नगर निगम मोती डूंगरी जोन उपायुक्त सुरेश चौधरी ने बताया कि शिविर में अब लोग आवंटन पत्र लेने आ रहे हैं। शिविर के पहले दिन करीब 60 लोग आवंटन पत्र लेने पहुंचे। नगर गिनम 372 परिवारों का जयसिंहपुरा खोर में पुनर्वास करेगा। इसके लिए शिविर बुधवार को भी लगाया जाएगा। वहीं चेतना कच्ची बस्ती के मुखिया प्रभुदयाल का कहना है कि नगर निगम 372 परिवारों को ही शिफ्ट कर रहा है। जबकि सर्वे करीब 394 लोगों को किया गया था। सर्वे में भी करीब 100 लोग बचे हुए हैं, जो वर्षों से यहां रह रहे हैं। निगम अधिकारी सभी लोगों का सर्वे कर उनका भी पुनर्वास करें। बस्ती को जयसिंहपुरा खोर के बजाय आगरा रोड पर शिफ्ट कर दिया जाए तो लोग जाने को तैयार है।

जेडीए ने निकाली थी लॉटरी
हाईकोर्ट के आदेश के बाद चेतना कच्ची बस्ती के 372 परिवारों को जयसिंहपुरा खोर परियोजना में पुनर्वास के लिए जेडीए ने लॉटरी के माध्यम से आवंटन पत्र जारी किए थे। इससे पहले नगर निगम अधिकारियों ने चेतना कच्ची बस्ती के लोगों का सर्वे किया था। इसमें 372 परिवार पाए गए।

Girraj Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned