जयपुर बाल कल्याण समिति को एक सदस्य की दरकार

Teena Bairagi

Updated: 11 Feb 2019, 10:42:53 AM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर बाल कल्याण समिति को एक सदस्य की दरकार
—बच्चों से जुड़े सर्वाधिक मामलों पर सुनवाई जयपुर में
जयपुर
निराश्रित व भटके हुए मासूमों की देखभाल व सुरक्षा की जिम्मेदारी देख रही बाल कल्याण समिति जयपुर में पिछले एक साल से सदस्यों का कोरम पूरा नहीं है। समिति में एक सदस्य का पद रिक्त चल रहा है। ऐसे में समिति को सरकार से एक सदस्य की दरकार है। समिति का कहना है कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से पूरे प्रदेश भर की जिला बाल कल्याण समितियों में रिक्त चल रहे अध्यक्ष व सदस्यों के पदां को भरने के लिए आवेदन मांगे गए है। इसमें राजधानी जयपुर भी शामिल है।
समिति की मानें तो जयपुर बड़ा है और आसपास के क्षेत्रों से भी बच्चों से जुड़े मामले यहां पहुंचते है। ऐसे में प्रतिदिन 10 से 15 बच्चों के मामलों में सुनवाई होती है। ऐसे में समिति का अपूर्ण होना कार्य को प्रभावित करता है। समिति पदाधिकारियों की मानें तो सदस्य की नियुक्ति होने से बच्चों के मामलों की सुनवाई को गति मिलेगी।

ये है समिति की शक्तियां—
बच्चों की देखभाल व सुरक्षा से जुड़े मामलों की सुनवाई और उनके समाधान के लिए राज्य के प्रत्येक जिले में बाल कल्याण समितियों का गठन किया गया है। इन समितियों में एक अध्यक्ष समेत चार सदस्यों को नियुक्त की जाती है। इस पूरी न्यायपीठ को प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट की शक्तियां प्राप्त है। बच्चों को बाल गृहों में प्रवेश देने, उसकी काउंसलिंग करने, उसका पुनर्वास करने के लिए कानूनी प्रक्रिया पूरी करने आदि कार्य बाल कल्याण समिति द्वारा किया जाता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned