इस्लामिक आतंकवाद पर जयपुर में बवाल, समुदाय विशेष का पब्लिशर के ऑफिस पर हमला, देखें वीडियो

चौड़ा रास्ता स्थित संजीव प्रकाशन के कार्यालय पर हुआ हमला, वर्ष 2017 में छपी किताब पर हुआ विवाद, तीन गिरफ्तार

By: pushpendra shekhawat

Published: 17 Mar 2021, 10:11 PM IST

मुकेश शर्मा / जयपुर. चौड़ा रास्ता स्थित संजीव प्रकाशन के कार्यालय में बुधवार दोपहर को समुदाय विशेष से जुड़े कुछ लोगों ने तोड़ फोड़ की। उत्पात मचाने वाले संजीव प्रकाशन की 12वीं कक्षा की एक किताब में आतंकवाद से जुड़े सवाल के जवाब का विरोध कर रहे थे। इस संबंध में कोतवाली थाना पुलिस ने तीन लोगों को शांतिभंग करने के मामले में गिरफ्तार किया, जबकि मौके से भाग गए अन्य हमलावरों को तलाश रही है।

उधर, कार्यालय में तोडफ़ोड़ की सूचना पर भाजपा नेता अशोक परनामी, अरूण चतुर्वेदी, सुरेन्द्र पारीक व मोहनलाल गुप्ता भी मौके पर पहुंच गए और हमलावरों की पहचान कर उनके खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की। उन्होंने पीडि़त परिवार को सुरक्षा प्रदान करने की भी मांग की। नेताओं ने आरोप लगाया कि बेखौफ हमलावरों ने पुलिस गार्ड की मौजूदगी में तोड़ फोड़ की।

एडिशनल डीसीपी धर्मेन्द्र सागर ने बताया कि आतंकवाद के सवाल के जवाब से जुड़े कुछ अंशों को लेकर दो दिन पहले पब्लिशर के खिलाफ कोतवाली थाने में परिवाद मिला था। जिसकी जांच की जा रही थी। पब्लिशर के कार्यालय में बुधवार को परिवाद देने वाले कुछ युवक पहुंच गए और तोड़ फोड़ कर दी। वहां पर पहले से सादा वर्दी में तैनात पुलिसकर्मियों ने तीन युवकों को पकड़ लिया। जबकि अन्य की तलाश है। इस संबंध में पब्लिशर की तरफ से रात तक मामला दर्ज नहीं करवाया गया था।

वर्ष 2017 का है मामला, इस पर है विवाद
पासबुक में छपे एक सवाल: इस्लामी आतंकवाद से आप क्या समझते है? जिसके जवाब में लिखा गया है कि इस्लामी आतंकवाद इस्लाम का ही एक रूप है, जो विगत 20-30 वर्षों में अत्यधिक शक्तिशाली बन गया है। आतंकवादियों में किसी एक गुट विशेष के प्रति समर्पण का भाव नहीं होकर एक समुदाय विशेष के प्रति समर्पण भाव होता है। वर्ष 2017 में पब्लिशर ने उक्त किताब प्रकाशित की थी। तीन वर्ष बाद इसका विरोध हुआ है। हालांकि पब्लिशर की तरफ से बताया गया कि उक्त सवाल-जवाब अन्य पब्लिशर की बुक में भी है। फिर भी किसी की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचने पर प्रकाशित सवाल-जवाब को हटाने के लिए बाजार से वापस बुक मंगा ली गई थी।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned