जयपुर के डॉक्टर्स का एक और कीर्तिमान, 74 वर्षीय मरीज को लगाया विशेष स्टेंट, बिना सर्जरी किया ठीक

जयपुर के डॉक्टर्स का एक और कीर्तिमान, 74 वर्षीय मरीज को लगाया विशेष स्टेंट, बिना सर्जरी किया ठीक

Pushpendra Singh Shekhawat | Publish: Aug, 08 2019 05:59:47 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

74 वर्षीय मरीज के मुख्य धमनी के पेट वाले हिस्से में (abdominal portion of the main artery ) जटिल एन्युरिज्म ( Complicated aneurysm ), एन्यूरिजम फट जाने पर हो सकता था जानलेवा, विशेष स्टेंट ( Special stent) से किया ठीक

विकास जैन / जयपुर। शहर के एक निजी अस्पताल के चिकित्सकों ने एक मरीज के दिल की मुख्य धमनी एओर्टा के पेट व पैर वाले हिस्से में खून की नस पर बड़ा एन्युरिज्म ( Complicated aneurysm ) बनने के बाद की जटिल स्थिति का बिना सर्जरी विशेष स्टेंट ( Special stent ) से उपचार करने में सफलता प्राप्त की है। इस मरीज के उपचार में देरी होने पर यह स्थिति मरीज के लिए जानलेवा साबित हो सकता।

 

नारायणा हॉस्पिटल ( Narayana Hospital Jaipur ) के डॉ. निखिल चौधरी ने बताया कि 74 साल के बनवारी लाल (परिवर्तित नाम) की भूख कम हो गई थी और वजन भी घट गया था। अक्सर उन्हें खाना खाने के बाद पेट में दर्द होने की शिकायत रहती थी। पहले तो परिजन इसे उम्र बढऩे से होने वाली पाचन संबंधी परेशानी मान बैठे, लेकिन जब समस्या बढऩे लगी तो डॉक्टरों को दिखाया। सोनोग्राफी जांच में पता चला कि मरीज के दिल की मुख्य धमनी एओर्टा के पेट व पैर वाले हिस्से में खून की नस पर बड़ा एन्युरिज्म हो गया है। पेट में महाधमनी का हिस्सा असामान्य तौर पर बढऩे, वहां खून की गुब्बारेनुमा गांठ (एन्युरिज्म) बनने की स्थिति को एबडोमिनल एओर्टिक एन्युरिज्म (एएए) कहा जाता है।

 

इस तरह के एन्युरिज्म को साइलेंट किलर भी कहा जाता है। इसके फट जाने पर तत्काल मृत्यु की 80-90 प्रतिशत संभावना रहती है। इसलिए तत्काल उपचार करना महत्वपूर्ण हो जाता है। ऐसी स्थिति में आमतौर पर सर्जरी ही की जाती है, लेकिन मरीज की स्थिति को देखते उपचार की दिशा तय करने के लिए डॉक्टरों की टीम बनाई गई। डॉ. हेमंत मदान व डॉ. निखिल चौधरी की टीम ने पजामा स्टेंट ग्राफ्ट का इस्तेमाल कर एबडोमिनल एन्युरिज्म को सील कर दिया ताकि उसके फटने के जोखिम को रोका जा सके। दाहिने पैर तक बढ़े हुए एन्युरिज्म को एक दूसरे स्टेंट ग्राफ्ट का इस्तेमाल कर बंद कर दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

अगली कहानी
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned